अभी-अभी: PNB Scam में CBI ने किया एक नया खुलासा, नीरव ने झुमके देकर लूटा बैंक

- in Mainslide, कारोबार

पीएनबी महाघोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने शनिवार को खुलासा किया कि आरोपी नीरव मोदी ने बैंक के एक अधिकारी को रिश्वत के तौर पर गोल्ड और डायमंड की ज्वैलरी दी थी।

अभी-अभी: PNB Scam में CBI ने किया एक नया खुलासा, नीरव ने झुमके देकर लूटा बैंक14 लोगों को लिया हिरासत में
सीबीआई ने इस महाघोटाले के बाद 14 लोगों को हिरासत में ले लिया है। वहीं ईडी ने भी मेहुल चोकसी और नीरव मोदी के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी कर दिया है। एजेंसी ने कोर्ट को बताया कि ब्राडी हाउस ब्रांच में फॉरेक्स डिपार्टमेंट में कार्यरत यशवंत जोशी को मोदी ने सोने के सिक्के और हीरे के झुमके रिश्वत में दिए थे। सोने के सिक्कों का वजन करीब 60 ग्राम था।

नीरव, मेहुल के खिलाफ गैर-जमानती वारंट
शनिवार को मुंबई में धनशोधन निवारण अधिनियम के (पीएमएलए) विशेष कोर्ट ने दोनों के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी कर दिया है। इससे पहले पीएनबी घोटाले के आरोप में कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है। नीरव और मेहुल के खिलाफ एफआईआर हो चुका है। उसके बाद उनके खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी हुआ है।

पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी हीरा कारोबारी नीरव के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय के विशेष वकील हितेन वेनेगांवकर ने बीते मंगलवार को पीएमएलए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। ईडी के वकील ने पीएमएलए कोर्ट के जज एमएस आजमी से नीरव मोदी के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी करने की मांग की थी।

प्रवर्तन निदेशालय के विशेष वकील ने अदालत को बताया कि विगत 15 फरवरी को ईडी ने नीरव मोदी के खिलाफ एक मामला दर्ज किया है। तब से लेकर अब तक उन्हें जांच एजेंसी के सामने पेश होने के लिए तीन समन जारी किए जा चुके हैं।

यह समन 15, 17 व 22 फरवरी को उनके कर्मचारियों के पते पर भेजने के साथ ही ईमेल पर भी भेजे गए थे और हाजिर होने को कहा गया था। फिर भी नीरव मोदी पेश नहीं हुए। इसलिए उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने की जरूरत है।

वारंट को हाईकोर्ट में चुनौती देंगे नीरव के वकील
पीएमएलए कोर्ट की ओर से गैरजमानती वारंट जारी होने के बाद नीरव मोदी के वकील विजय अग्रवाल ने कहा है कि वह इसे हाईकोर्ट में चुनौती देंगे। अग्रवाल ने कहा कि पीएमएलए कोर्ट के फैसले को चुनौती देने के लिए गंभीरता से विचार कर रहे हैं। फैसले के अध्ययन के बाद अंतिम निर्णय लिया जाएगा क्योंकि हमें ईडी की ओर से दाखिल किए गए आवेदन की प्रति भी नहीं मिली है।

गौरतलब है कि पीएनबी ने नीरव मोदी के एक और फ्राड का ट्रांजेक्शन का पता लगाया है जो 1322 करोड़ रुपये का है। इससे अब पीएनबी घोटाला 12,622 करोड़ हो गया है।

You may also like

आधार की वैधता पर सुप्रीम कोर्ट बुधवार को सुनाएगा फैसला

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट बुधवार को आधार की वैधता पर