अभी-अभी: गवर्नर ने नेफियो रियो को बनाया नगालैंड का नया CM

- in Mainslide, राष्ट्रीय

पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में चुनाव नतीजों के बाद सरकार बनने का रास्ता भले ही पहले साफ हो गया हो, लेकिन नगालैंड में स्थिति मंगलवार को ही स्पष्ट हो सकी. मौजूदा मुख्यमंत्री और एनपीएफ नेता टीआर जेलियांग ने आखिरकार मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

अभी-अभी: गवर्नर ने नेफियो रियो को बनाया नगालैंड का नया CMजेलियांग के इस्तीफे के बाद नगालैंड के राज्यपाल पीबी आचार्य ने एनडीपीपी नेता नेफियो रियो को अगला सीएम नियुक्त किया है. यह नियुक्ति भारतीय संविधान की धारा 164 (1) के तहत की गई है. राज्यपाल ने रियो से 16 मार्च तक अपना बहुमत साबित करने को भी कहा है.

राज्य की राजनीति में तब गतिरोध पैदा हो गया था, जब  जेलियांग ने इस्तीफा देने से इनकार कर दिया था. जेलियांग को सरकार बनाने का भरोसा था. हालांकि, अब राज्यपाल आचार्य ने मौजूदा सीएम जेलियांग का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. उन्होंने सीएम जेलियांग से वैकल्पिक व्यवस्था होने तक अपनी पुरानी जिम्मेदारी निभाने को कहा है.

मंगलवार शाम जेलियांग ने इस संबंध में कई ट्वीट किए और इस बारे में जानकारी दी. जेलियांग ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘आज दोपहर मैंने अपने साथ पूरे मंत्रिमंडल का इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया है. हम भविष्य में साथ रहेंगे और एक-दूसरे का सहयोग करेंगे.’

एक और ट्वीट में टीआर जेलियांग ने नगालैंड की जनता का भी शुक्रिया अदा किया. उन्होंने लिखा, ‘मैं एक बार फिर नगालैंड के मतदाताओं को जनादेश देने के लिए धन्यवाद देता हूं. हम आपका सहयोग लेते रहेंगे और राज्य में शांति के लिए मिलकर काम करेंगे.’

ये है पूरा मामला

नगालैंड में शनिवार को परिणाम आने के बाद रविवार को बीजेपी-एनडीपीपी गठबंधन ने 32 विधायकों के समर्थन का पत्र राज्यपाल को सौंपा था. जिसके बाद राज्यपाल ने एनडीपीपी नेता नेफियू रियो को सरकार बनाने का न्यौता दिया. मगर, मौजूदा सीएम और एनपीएफ नेता टीआर जेलियांग ने पद से इस्तीफा देने से मना कर दिया था. राज्यपाल ने उन्हें भी बहुमत साबित करने को कहा था.

दरअसल, 60 सीटों वाली नगालैंड विधानसभा में नगा पीपल्स फ्रंट (एनपीएफ) ने 27 सीटों पर जीत दर्ज की है. एनपीएफ के प्रमुख जेलियांग ने दावा किया था कि उनके पास 29 विधायकों का समर्थन है. जबकि दूसरे तरफ एनडीपीपी ने 17 सीटों पर जीत दर्ज की है. जबकि बीजेपी को 12 सीटों पर जीत दर्ज हुई है. दोनों पार्टियों ने मिलकर ये चुनाव लड़ा था.

नगालैंड में एनपीपी और बीजेपी गठबंधन में सरकार बना रही है. नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह 7 मार्च को होगा.पूर्वोत्तर के तीन राज्यों में चुनाव नतीजों के बाद सरकार बनने का रास्ता भले ही पहले साफ हो गया हो, लेकिन नगालैंड में स्थिति मंगलवार को ही स्पष्ट हो सकी. मौजूदा मुख्यमंत्री और एनपीएफ नेता टीआर जेलियांग ने आखिरकार मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

जेलियांग के इस्तीफे के बाद नगालैंड के राज्यपाल पीबी आचार्य ने एनडीपीपी नेता नेफियो रियो को अगला सीएम नियुक्त किया है. यह नियुक्ति भारतीय संविधान की धारा 164 (1) के तहत की गई है. राज्यपाल ने रियो से 16 मार्च तक अपना बहुमत साबित करने को भी कहा है.

राज्य की राजनीति में तब गतिरोध पैदा हो गया था, जब जेलियांग ने इस्तीफा देने से इनकार कर दिया था. जेलियांग को सरकार बनाने का भरोसा था. हालांकि, अब राज्यपाल आचार्य ने मौजूदा सीएम जेलियांग का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. उन्होंने सीएम जेलियांग से वैकल्पिक व्यवस्था होने तक अपनी पुरानी जिम्मेदारी निभाने को कहा है.

मंगलवार शाम जेलियांग ने इस संबंध में कई ट्वीट किए और इस बारे में जानकारी दी. जेलियांग ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘आज दोपहर मैंने अपने साथ पूरे मंत्रिमंडल का इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया है. हम भविष्य में साथ रहेंगे और एक-दूसरे का सहयोग करेंगे.’

एक और ट्वीट में टीआर जेलियांग ने नगालैंड की जनता का भी शुक्रिया अदा किया. उन्होंने लिखा, ‘मैं एक बार फिर नगालैंड के मतदाताओं को जनादेश देने के लिए धन्यवाद देता हूं. हम आपका सहयोग लेते रहेंगे और राज्य में शांति के लिए मिलकर काम करेंगे.’

ये है पूरा मामला

नगालैंड में शनिवार को परिणाम आने के बाद रविवार को बीजेपी-एनडीपीपी गठबंधन ने 32 विधायकों के समर्थन का पत्र राज्यपाल को सौंपा था. जिसके बाद राज्यपाल ने एनडीपीपी नेता नेफियू रियो को सरकार बनाने का न्यौता दिया. मगर, मौजूदा सीएम और एनपीएफ नेता टीआर जेलियांग ने पद से इस्तीफा देने से मना कर दिया था. राज्यपाल ने उन्हें भी बहुमत साबित करने को कहा था.

दरअसल, 60 सीटों वाली नगालैंड विधानसभा में नगा पीपल्स फ्रंट (एनपीएफ) ने 27 सीटों पर जीत दर्ज की है. एनपीएफ के प्रमुख जेलियांग ने दावा किया था कि उनके पास 29 विधायकों का समर्थन है. जबकि दूसरे तरफ एनडीपीपी ने 17 सीटों पर जीत दर्ज की है. जबकि बीजेपी को 12 सीटों पर जीत दर्ज हुई है. दोनों पार्टियों ने मिलकर ये चुनाव लड़ा था.

नगालैंड में एनपीपी और बीजेपी गठबंधन में सरकार बना रही है. नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह 7 मार्च को होगा.

You may also like

आधार की वैधता पर सुप्रीम कोर्ट बुधवार को सुनाएगा फैसला

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट बुधवार को आधार की वैधता पर