JDU ने तेजस्वी के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा- ट्विटर बउआ, अपने गुरु, लालू जी से थोड़ा…

पटना। बिहार में सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल जदयू ने पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव को अपने राजनीतिक गुरु लालू प्रसाद से राजनीति में ‘भ्रष्टाचार का अर्थशास्त्र’ सीखने की सलाह दी है।जेडीयू के प्रवक्ता और विधान पार्षद नीरज कुमार ने रविवार को पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी से कहा कि आपको भ्रष्टाचार की शिक्षाग्रहण के लिए विदेश जाने की जरूरत नहीं है।JDU ने तेजस्वी के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा- ट्विटर बउआ, अपने गुरु, लालू जी से थोड़ा...

तेजस्वी को झूठा आरोप लगाने की आदत

उन्होंने कहा कि तेजस्वी आजकल राजनीति में ‘चूहा-बिल्ली’ का खेल, खेल रहे हैं। ट्विटरबाजी कर झूठे आरोप लगाना उनकी आदत हो गयी है, जिससे वह मीडिया में बने रहना चाहते हैं। उन्होंने राजद नेता को सलाह देते हुए कहा कि ‘तेजस्वी को उनके राजनीतिक गुरु लालू प्रसाद भ्रष्टाचार के विषय की अच्छी शिक्षा घर में ही दे सकते हैं, क्योंकि राजनीति में इस विषय में लालू जी से बड़ा कोई ‘डिग्रीधारी’ विद्वान नहीं है।’

लालू ने भ्रष्टाचार की गंगा बहाई

उन्होंने इसका उदाहरण देते हुए कहा कि वित्तीय वर्ष 1988-89 में बिहार के पशुपालन विभाग का कुल आवंटन 42.90 करोड़ रुपये था, लेकिन उस वर्ष 47.90 करोड़ रुपये की निकासी की गई। ठीक  इसी तरह 1989-90 में इसी विभाग में आवंटन की कुल राशि 42.80 करोड़ रुपये थी, लेकिन  51.45 करोड़, 1990-91 निकासी कर कुल आवंटन राशि 54.92 करोड़ जबकि निकासी 84 करोड़ रुपये की गई। इसी तरह जैसे-जैसे ‘भ्रष्टाचार की गंगा’ में पानी बढ़ता गया वैसे-वैसे निकासी की राशि भी ‘सुरसा की मुंह’ की तरह बढ़ती गई।

उन्होंने आरोप लगाया कि वित्तीय वर्ष 1991-92 में पशुपालन विभाग में आवंटन की कुल राशि 59 करोड थी, जबकि इस वर्ष में निकासी 129 करोड़ की गई। इसी तरह 1992-93 में इसी विभाग में कुल आवंटन की राशि 66 करोड़ रुपये थी जबकि निकासी 154 करोड़ और 1993-94 में कुल आवंटन राशि 74 करोड और निकासी 199 करोड़ तक पहुंच गई। उन्होंने कहा, ‘वर्ष 1988 से 1994 तक पशुपालन विभाग में बजटीय प्रावधान से ज्यादा राशि की निकासी की गई।’ 

तेजस्वी हैं नौनिहाल ट्विटर बउआ

नीरज कुमार ने तेजस्वी को राजनीति में नौनिहाल ‘ट्विटर बउआ’ कहकर संबोधित करते हुए कहा कि तेजस्वी के राजनीति गुरु अभी जमानत पर घर पर ही हैं। इस कारण वह अभी इसकी शिक्षा घर पर ही ले सकते हैं। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि इस शिक्षा की मंजिल वहीं है जहां आपके राजनीति गुरु और पिताजी हैं। बता दें कि शनिवार को भ्रष्टाचार को लेकर तेजस्वी ने नीतीश सरकार को घेरा था और ट्वीट कर चूहों को लेकर तंज कसा था। जिसका जवाब जदयू ने दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तर प्रदेश सरकार चीनी मिलों को दिलवाएगी 4,000 करोड़ रुपये का सस्ता कर्ज

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य की चीनी मिलों