जयाप्रदा ने सपा नेता आजम खां को बताया अलाउद्दीन खिलजी

राज्यसभा सदस्य अमर सिंह की बेहद करीबी जयाप्रदा ने लंबे समय बाद आज आजम खां पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। आजम खां का गढ़ माने जाने वाले रामपुर से दो बार लोकसभा सदस्य रहीं जयाप्रदा ने समाजवादी पार्टी के फायरब्रांड नेता आजम खां की तुलना अलाउद्दीन खिलजी से की है। रामपुर से पूर्व सांसद और सिने स्टार जयाप्रदा ने समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता आजम खां पर बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं। जयाप्रदा ने आजम खान की तुलना अलाउद्दीन खिलजी से की है। जयाप्रदा ने कहा कि जब मैं फिल्म पद्मावत देख रही थी, तब अलाउद्दीन खिलजी को देखकर मेरे जेहन में आजम खां आ रहे थे। मैं सोच रही थी कि रामपुर से जब मैं चुनाव लड़ रही थी तब उस शख्स ने किस तरह से मुझे प्रताडि़त किया था।

जयाप्रदा ने सपा नेता आजम खां को बताया अलाउद्दीन खिलजी

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत में रणवीर सिंह ने खिलजी की भूमिका निभाई थी। फिल्म में खिलजी का चरित्र क्रूरता से भरपूर था। इस फिल्म को लेकर देशभर में काफी विवाद भी हुआ था। जयाप्रदा ने कहा कि मैं जब फिल्म पद्मावत देख रही थी, खिलजी के किरदार से मुझे आजम खां की याद आ गई। जब जयाप्रदा से भाजपा या किसी दूसरे दल के साथ जाने को लेकर सवाल किए जा रहे हैं, उन्होंने एक बार फिर अपने पुराने प्रतिद्वंदी आजम खां को निशाने पर लिया है। कुछ दिन पहले ही जयाप्रदा ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को बिगड़ा बच्चा कहकर संबोधित किया था। उन्होंने कहा था कि अखिलेश बिगड़े हुए बच्चे हैं। उन्हें भगवान राम से सीखना चाहिए, जो पिता का वचन निभाने के लिए राजपाठ त्यागकर वनवास चले गए थे।

मुलायम सिंह यादव के जिगरी दोस्त रहे अमर सिंह अभिनेत्री जयाप्रदा को राजनीति में लेकर आए थे। जयाप्रदा ने आजम खां के गढ़ रामपुर से दो बार समाजवादी पार्टी के टिकट पर लोकसभा का चुनाव भी जीता था। इसके बाद अखिलेश यादव के सपा अध्यक्ष बनने के बाद अमर सिंह और जयाप्रदा को पार्टी से निकाल दिया गया था। जया प्रदा इसके बाद अमर सिंह के साथ मिलकर राष्ट्रीय लोकदल में शामिल हो गई थीं। इसी पार्टी से उन्होंने 2014 के आम चुनाव में बिजनौर से चुनाव लड़ा था लेकिन उन्हें जीत नहीं मिली थी।

लखनऊ सिटी बस हादसे में केस दर्ज, चालक गिरफ्तार, घायलों को मिलेगा मुआवजा

रामपुर के चुनाव को लेकर जयाप्रदा ने आजम खां पर कई आरोप लगाए। आजम खां पर जयाप्रदा को चुनाव हराने के भी आरोप लगे। इसके बाद भी जयाप्रदा चुनाव जीत गईं। 2009 के लोकसभा चुनाव में भी जयाप्रदा ने रामपुर से चुनाव लड़ा और आजम खां पर फिर उनके विरोध के आरोप लगे। जयाप्रदा के आरोप सिर्फ चुनाव हराने की कोशिश तक ही सीमित नहीं रहे हैं। उन्होंने आजम खां पर कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं। दूसरी तरफ आजम खां भी सार्वजनिक मंचों से जयाप्रदा को लेकर विवादित टिप्पणी करते रहे हैं।

 

जयाप्रदा और आजम खां के बीच जुबानी जंग अक्सर देखने को मिलती रही है। पार्टी से निकाले जाने का आरोप आजम ने जयाप्रदा पर ही मढ़ा था। आजम खां तब विवादित बयान देते हुए कहा था कि एक नाचने वाली के चलते उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया। एक और बयान में उन्होंने कहा था कि हम तो नाचनेवाली को भी सांसद बना देते हैं। जयाप्रदा ने भी इससे पहले आजम खां पर कई तीखे वार किए हैं। रामपुर से लोकसभा सांसद रहीं जयाप्रदा ने आरोप लगाया था कि आजम के खौफ के कारण ही उन्हें अपने संसदीय क्षेत्र से दूर रहना पड़ता है।

जयाप्रदा ने 2004 के लोकसभा चुनावों के दौरान रामपुर से चुनाव लड़ा और सफल रहीं। 11 मई 2009 को जयाप्रदा ने आरोप लगाया कि समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान ने उनकी नग्न तस्वीरों का वितरण किया है। इसके बाद भी दोबारा 30,000 से भी ज्यादा वोटों से चुनी गईं। आजम खां ने भी जयाप्रदा को लेकर कई बार विवादित बयान दिए। एक बार उन्होंने कहा कि वह हमारी पार्टी से दो बार एमपी रहीं लेकिन आज तक हमने उनका एक भी ठुमका नहीं देखा उन्होंने हमारे सामने एक बार भी डांस नहीं किया।

जयाप्रदा ने भी इससे पहले आजम पर कई तीखे वार किए हैं। रामपुर से लोकसभा सांसद रहीं जयाप्रदा ने आरोप लगाया था कि आजम के खौफ के कारण ही उन्हें अपने संसदीय क्षेत्र से दूर रहना पड़ता है। उन्होंने कहा था कि आजम के कारण ही उन्हें उनके ही संसदीय क्षेत्र में न तो कोई होटेल मिलता है और ना सरकारी गेस्ट हाउस में ठहरने दिया जाता है।  

You may also like

ताजमहल संरक्षण मामले को लेकर SC में सुनवाई आज, विशेषज्ञ समिति देगी अपने सुझाव

नई दिल्ली : ताजमहल संरक्षण मामले में सुप्रीम कोर्ट