हरियाणा में कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच जाट महासम्मेलन शुरू, सैनी का सर कलम करने की धमकी

रोहतक। अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति की तरफ जसिया में जाट महासम्मेलन शुरू हो गया है। इस दौरान जाट नेता जितेंद्र ने खुले मंच से कुरुक्षेत्र के सांसद राजकुमार सैनी को धमकी दी। कहा कि वह 10 जून को झज्जर के दुबलधन गांव में उनकी रैली नहीं होने देंगे। गांव में घुसने पर उनकी गर्दन काट दी जाएगी। बता दें, सैनी आट आरक्षण को लेकर उनके मुखर विरोधी हैं।हरियाणा में कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच जाट महासम्मेलन शुरू, सैनी का सर कलम करने की धमकी

वहीं, मंच पर जाट नेता यशपाल मलिक ने कहा आने वाले दिनों में सीएम और उनके मंत्रिमंडल को गांवों में घुसने नहीं दिया जाएगा। हालांकि अभी तक जाट पदाधिकारियों ने आंदोलन की रणनीति का खुलासा नहीं किया है। सुबह से ही लोग महासम्मेलन में पहुंचने शुरू हो गए थे। सम्मेलन को लेकर पुलिस-प्रशासन ने अलर्ट पर है। धारा 144 लागू करते हुए जिले को तीन जोन में बांटकर डीएसपी डॉ. रविंद्र, डीएसपी रोहताश और डीएसपी रमेश कुमार को सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

शहर के चारों तरफ 20 नाके लगाए गए हैं और 42 ड्यूटी मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं।  इस दौरान शहर में भारी वाहनों की एंट्री बंद है। एसपी जश्नदीप सिंह रंधावा ने पुलिस के जवानों को किसी भी विकट परिस्थितियों से निपटने के लिए हर समय तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं। उधर, महासम्मेलन के आयोजकों का दावा है कि इस दौरान आगामी आंदोलन की घोषणा की जाएगी।

महासम्मेलन को लेकर डीसी डॉ. यश गर्ग ने जिले में धारा 144 लागू की गई है। एक स्थान पर पांच या पांच से अधिक व्यक्ति इकट्ठे नहीं हो सकते। शहर के चारों तरफ 20 नाके लगाए गए हैं। गोहाना रोड बाईपास वाले नाके पर सबसे अधिक फोर्स तैनात रहेगी। हर विकट परिस्थितियों से निपटने के लिए पुलिस के जवानों को दंगा निरोधक प्रशिक्षण भी दिया गया  है। इसके अलावा डीएसपी महम वीरेंद्र सिंह, डीएसपी नारायण चंद, डीएसपी गजेंद्र सिंह, डीएसपी ताहिर हुसैन और डीएसपी पृथ्वी सिंह को भी अलग-अलग स्थानों पर जिम्मेदारी दी गई है।

यह है रूट प्लान

महासम्मेलन में शामिल होने वाले लोगों को शहर के अंदर प्रवेश नहीं दिया गया। सभी शहर के आउटर बाईपास से होते हुए जसिया पहुंचे। रोहतक-पानीपत हाइवे पर भी बड़े वाहनों की एंट्री बंद रही। सरकारी और सहकारी बसों को भी हाईवे से जाने की अनुमति नहीं है। हालांकि छोटे वाहनों के लिए हाईवे खुला रहा।

सोशल मीडिया पर भी रहेगी पुलिस की निगाह, नंबर जारी

महासम्मेलन को लेकर पुलिस ने सोशल मीडिया पर निगाह रखने के लिए भी विशेष टीम बनाई है। फेसबुक, वाट्सएप या ट्विटर आदि पर भड़काऊ या भ्रामक सामग्री भेजने वालों पर भी कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए पुलिस ने कंट्रोल रूम नंबर 100, 01262-228113 और 9996464100 भी जारी किया है। इन नंबरों को भी कोई भी व्यक्ति सूचना दे सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मध्यप्रदेश चुनाव : कल भाजपा आयोजित करेगी ‘कार्यकर्ता महाकुंभ’, PM मोदी समेत कई बड़े नेता होंगे शामिल

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव तेजी से नजदीक आ