ईरान ने अंतरराष्ट्रीय अदालत में नए सिरे से प्रतिबंध लगाने पर अमेरिका की शिकायत की

खुद पर एक बार फिर से लगाए गए प्रतिबंधों को लेकर ईरान ने अंतरराष्ट्रीय अदालत (आईसीजे) में अमेरिका के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। ईरान के विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता बहरम घासेमी ने कहा कि अमेरिका के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है। विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ ने ट्वीट कर कहा कि इस कदम का उद्देश्य अमेरिका के मनमाने प्रतिबंधों को गैर कानूनी ढंग से फिर से थोपे जाने के लिए उसे जवाबदेह बनाना है। 

उन्होंने कहा कि यह जरूरी है कि अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन करने की उसकी आदत का विरोध किया जाए। अमेरिकी प्रशासन नहीं जानता है कि दुनिया से कैसे बर्ताव करना है। यह एक औजार के तौर पर अंतरराष्ट्रीय संधियों को तोड़ता है। 2015 के परमाणु समझौते से इस साल मई में अमेरिका के अलग होने और ईरान पर फिर से बैन लगाने के उसके फैसले की प्रतिक्रिया में यह शिकायत दर्ज कराई गई है।

ईरान ने कहा कि अमेरिका की यह कार्रवाई ‘1955 के अमेरिका-ईरान ट्रीटी ऑफ एमेटी’ सहित अंतरराष्ट्रीय दायित्वों का उल्लंघन करती है। बता दें कि 1980 में अमेरिकी दूतावास अधिकारियों को ईरान की राजधानी तेहरान में बंधक बनाने के बाद से ईरान और अमेरिका के बीच राजनयिक संबंध नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अमेरिका के मध्यावधि संसदीय चुनाव में 12 भारतवंशी मैदान में

अमेरिका में छह नवंबर को होने वाले मध्यावधि