IPL 2019: अब कोहली की टीम भी पहुंच सकती है प्लेऑफ में, यह गणित कर सकता है नैया पार

 इंडियन प्रीमियर लीग में जब विराट कोहली की बेंगलुरू टीम के बारे में कहा जा रहा है कि वह प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो गई है. वैसे तो उसका प्लेऑफ में पहुंचना बहुत ही कठिन है, लेकिन ऐसा नहीं है कि टीम प्लेऑफ में नहीं पहुंच सकती. आईपीएल इतिहास में ऐसा पहले भी हो चुका है कि टीमें सबसे नीचे से ऊपर उठ कर प्लेऑफ में पहुंची हैं. मुबई की टीम इसका एक उदाहरण रह चुकी है.

Loading...

चेन्नई है टॉप पर फिलहाल

फिलहाल अंक तालिका में चेन्नई की टीम 8 मैचों के साथ 14 अंकों के साथ टॉप पर है. अभी विराट की टीम 8 मैचों में से केवल एक ही मैच जीत सकी है और उसके दो अंक हैं. यानि अगर अभी चेन्नई की टीम सारे मैच हार जाती है और विराट की टीम बाकी मैच जीत जाती है, तो दोनों टीमों के बराबर अंक हो जाएंगे. इसके अलावा विराट को अपनी टीम का रनरेट भी बेहतर तो करना ही होगा. 

चेन्न्ई के अलावा दिल्ली और मुंबई की राह है आसान

दिल्ली और मुंबई की टीम भी दस अंकों के साथ दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं. इन टीमों को बेंगलुरू से आगे रहने के लिए छह मैचों में केवल तीन जीतों की दरकार है और ऐसे में वे बेंगलुरू को पीछे छोड़ देंगें. इनके साथ अगर चेन्नई ने एक मैच भी और जीत लिया तो उससे भी बेंगलुरू पीछे रह जाएगी. इन हालातों में बेंगुलुरू के कोलकाता, राजस्थान, हैदराबाद और पंजाब से आगे आना होगा.

चौथे स्थान के लिए करनी होगी बेंगलुरू को जंग

चौथे स्थान के लिए भी बेंगलुरू को कोलकाता, पंजाब, हैदराबाद और राजस्थान को पीछे छोड़ना आसान नहीं होगा. कोलकाता और पंजाब के 8 मैचों में 8 अंक हैं. इन टीमों को बेंगलुरू को पीछे छोड़ने के लिए केवल चार मैच जीतने होंगे. इन छह में से चार मैच जीतना इनके लिए आसान नहीं होगा. अगर ऐसा नहीं होता तो बेंगलुरू चौथे स्थान के लिए नजदीक आ सकती है.

हैदराबाद और राजस्थान कर सकते हैं बेंगलुरू की मदद

उपरोक्त समीकरण के साथ ही हैदराबाद और राजस्थान के सात मैचों में क्रमशः 6 और चार अंक हैं. यानि हैदाराबाद को बेंगलुरू को पछाड़ने के लिए बाकी सात मैचों में चार और राजस्थान को बाकी सात मैचों में से पांच मैच जीतने होंगे. राजस्थान के लिए डगर बेंगलुरू की तरह ही काफी कठिन है. अगर किस्मत बेंगलुरू का साथ देती है तो चौथे स्थान के लिए उसके मुकाबला राजस्थान और हैदराबाद से नहीं होगा. 

तो फिर केवल दो टीमों पर निर्भर करेगा नतीजा

अब अगर हम यह मानकर चलें कि हालात बेंगलुरू के पक्ष में हों तो बेंगलुरू की टक्कर चौथे स्थान के लिए केवल कोलकाता और पंजाब से होगी. दोनों टीमों को अभी एक बार आपस में 3 मई को भिड़ना है. तो दोनों ही टीमों में से एक टीम की एक जीत तो पक्की है. उसके बाद उस विजेता टीम को बचे 5 मैचों में से कम से कम दो मैच जीतने होंगे. अगर वह यह भी न कर सकी और दूसरी टीम भी बाकी पांच में से तीन मैच न जीत सकी तो बेंगलुरू के लिए प्लेऑफ की उम्मीदें जिंदा रहेंगी. 

केवल छह जीत से ही काम नहीं चलेगा

केवल बचे छह मैच जीतना ही बेंगलुरू के लिए काफी न होगा उसे नेट रनरेट में भी बाकी टीमों से आगे निकलना होगा. ऐसे में बेंगलुरू को अपना नेट रनरेट केवल कोलकता और पंजाब से ही बेहतर करना होगा. हालांकि रनरेट के हैदाराबाद भी बेंगलुरू के साथ मुकाबला करने आ सकती है. तो ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या बेंगलुरू के लिए यह मुमकिन है. वहीं राजस्थान के बेयरस्टॉ की वापसी भी राजस्थान को नुकसान पहुंचाएगी. 

और भी कॉमबिनेशन हो सकते हैं बेंगलुरू के पक्ष में

यह केवल एक कॉम्बिनेशन है ऐसे कुछ और भी कॉम्बिनेशन हो सकते हैं जो बेंगलुरू को प्लेऑफ में पहुंचा सकते हैं. इसी वजह से  इस मामले में बेंगलुरू के लिए अच्छी खबर यह है कि कई टीमों के दिग्गज खिलाड़ी आईपीएल छोड़कर अपने देश वापस जाने वाले हैं. इनमें हैदराबाद को सबसे ज्यादा नुकसान होगा. जिसमें डेविड वार्नर और जॉनी बेयरस्टॉ की जोड़ी बाहर हो जाएगी कप्तान विलियम्सन भी बाहर हो जाएं तो हैरान नहीं होनी चाहिए. 

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com