भारतीय सीमा पर चीनी सैनिक ने की घुसपैठ, विरोध के बाद वापस लौटे

- in उत्तराखंड
उत्तराखंड के चमोली जिले से लगी चीन सीमा क्षेत्र के बाड़ाहोती में चीनी सेना द्वारा घुसपैठ करने का मामला सामने आया है। सूत्रों के मुताबिक अगस्त माह में चीनी सेना ने तीन बार सीमा पर घुसपैठ की। जिसे लेकर अब ख़ुफ़िया तंत्र सक्रिय हो गया है। बताया जा रहा है कि चीनी सैनिक 4 किमी. तक आईटीबीपी की अग्रिम चौकी की ओर आ रहे थे।

भारत की ओर से आईटीबीपी के जवानों ने चीन के सैनिकों को खदेड़ा तो वह वापस लौट गए। चीनी सेना 6, 13 और 15 अगस्त को भारतीय सीमा में घुसी। चमोली की जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया का कहना है कि इस मामले में कोई सूचना अभी तक जिला प्रशासन को नहीं मिली है।

वहीं इन दिनों चीन सीमा क्षेत्र में भारत की ओर से सड़क विस्तार कार्य जोरशोर से चल रहा है। बुधवार को बीआरओ के शिवालिक परियोजना के मुख्य अभियन्ता भी सीमा क्षेत्र में सड़क का स्थलीय निरीक्षण करने जा रहे हैं।

27 जुलाई को भी चीनी सेना ने बाड़ाहोती क्षेत्र में की थी घुसपैठ

इससे पहले 27 जुलाई को भी चीनी सेना ने बाड़ाहोती क्षेत्र में घुसपैठ की थी। जानकारी के मुताबिक दस जुलाई 2018 को तुनजुन ला के पास बाइक के जरिए एक चीनी सैनिक करीब 500 मीटर तक भारत की सीमा में घुस आया था।

आईटीबीपी जवानों के विरोध के बाद चीनी सैनिक वापस चला गया। इससे पहले आठ जुलाई को भी आधा दर्जन छोटे वाहनों में सवार 32 चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की।

चीनी सैनिक होतीगाड़ क्षेत्र में करीब चार किलोमीटर तक भारतीय सीमा में घुस आए। इसी दिन घोड़े पर सवार कुछ चीनी सैनिक भी भारतीय सीमा में दिखे थे। चीनी सैनिकों ने भारतीय चरवाहों को इशारे से वापस चले जाने के लिए कहा।

हालांकि चमोली की जिलाधिकारी स्वाती एस भदौरिया की तरफ से बाड़ाहोती क्षेत्र में प्रशासनिक अधिकारियों और कर्मचारियों की टीम भेजे जाने की पुष्टि तो की गई थी, लेकिन सीमा क्षेत्र में घुसपैठ की किसी भी सूचना से उन्होंने इनकार किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्‍तराखंड: मानसून सत्र के दूसरे दिन कांग्रेस ने अतिक्रमण के मसले को लेकर किया हंगामा

देहरादून: उत्‍तराखंड विधानसभा में मानसून सत्र के दूसरे