इनेलो ने कांग्रेस-भाजपा को ठहराया कर्मचारियों का दोषी

चंडीगढ़। कच्चे कर्मियों को पक्का करने की पॉलिसी रद करने के हाई कोर्ट के फैसले से राज्य के 55 हजार कर्मचारियों की नौकरी पर मंडरा रहे खतरे के लिए इनेलो ने पूर्ववर्ती कांग्रेस और वर्तमान भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। साथ ही नशीले पदार्थों की तस्करी में भाजपाइयों के शामिल होने के आरोप जड़े। सरकारी संरक्षण में अवैध खनन का आरोप लगाते हुए विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा कि इस ‘खेल’ में शामिल रसूखदार लोगों के नाम वह विधानसभा के अगले सत्र में सार्वजनिक करेंगे।इनेलो ने कांग्रेस-भाजपा को ठहराया कर्मचारियों का दोषी

चंडीगढ़ में पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा और आधा दर्जन विधायकों के साथ पत्रकारों से रूबरू अभय चौटाला ने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने सियासी लाभ के लिए वर्ष 2014 में कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की पॉलिसी बनाई, जबकि एडवोकेट जनरल ने साफ कर दिया था कि यह पॉलिसी असंवैधानिक है। इसके बाद सत्ता में आई भाजपा सरकार ने हाई कोर्ट में ठीक से पैरवी नहीं की ताकि इन कर्मचारियों को निकालकर अपने चहेतों को नौकरियां दे सके।

चौटाला ने कहा कि यदि सरकार की नीयत साफ है तो तुरंत सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर कर रिक्त पदों को पुन: विज्ञापित करे और ऐसी पॉलिसी बनाए जिससे कच्चे कर्मचारियों को भी एडजस्ट किया जा सके। चौटाला ने हुड्डा की रथ यात्रा पर तंज कसते हुए कहा कि रथ तो है ही नहीं। उनका रथ तो पलवल में ही पंक्चर हो चुका।

किसान आंदोलन का मुद्दा उठाते हुए चौटाला ने कहा कि पहले दिल्ली मार्च के दौरान हजारों किसानों पर धारा 307 के तहत केस दर्ज कराए गए। अब फिर किसानों के खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस वे के निर्माण में कई साल की देरी के बावजूद पेनल्टी माफ कर दी गई। इनेलो सत्ता में आई तो दोषियों से इस राशि की रिकवरी होगी।

सीएम कबड्डी खिलाड़ी को छू लें तो राजनीति से संन्यास

राहगीरी कार्यक्रमों पर सवाल उठाते हुए चौटाला ने कहा कि मुख्यमंत्री कहीं गुल्ली डंडा खेल रहे तो कहीं कबड्डी। उन्होंने सीएम को चैलेंज देते हुए कहा कि मैं कबड्डी के खिलाड़ी खड़े करता हूं। अगर वह एक को भी छूकर निकल जाएं तो मैं राजनीति से संन्यास ले लूंगा। उन्होंने कहा कि पहले लुटेरे और डाकू राहगीरी करते थे और अब सरकार खुलेआम राहगीरी कर लोगों को लूट रही है।

डिप्टी मेयर के भाई की मौत मामले में सीएम से मिलेंगे इनेलो नेता

विधानसभा चुनाव में करनाल सीट पर इनेलो उम्मीदवार रहे डिप्टी मेयर मनोज वधवा के भाई सोनू वधवा की मौत के मामले में इनेलो नेता सीएम से मुलाकात करेंगे। अभय चौटाला ने कहा कि पिछले साल नोटबंदी के दौरान व्यावसायिक कार्य के लिए 16.42 लाख रुपये लेकर जा रहे सोनू पर सरकार ने सियासी कारणों से 70 लाख रुपये फर्जी तरीके से रखने का मुकदमा ठोक दिया।

उसे आत्महत्या के लिए मजबूर किया गया। विजिलेंस महानिदेशक भी अपनी जांच में दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश कर चुके, लेकिन आठ माह बाद भी कोई एक्शन नहीं हुआ। इसके उलट सरकार में शामिल कुछ लोग पीडि़त परिवार को धमका रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जवानों की हत्या को लेकर केजरीवाल ने PM मोदी से मांगा जवाब

बीएसएफ जवान नरेंद्र सिंह की शहादत के बाद