Home > अपराध > मालिक की पत्नी के प्रेमी की आंख में लगाया एसिड का इंजेक्शन

मालिक की पत्नी के प्रेमी की आंख में लगाया एसिड का इंजेक्शन

ऐसा लग रहा है बिहार में फिर से ‘जंगलराज’ की वापसी हो गई है. कभी पकड़उवा विवाह, अपहरण और ‘गंगाजल’ जैसी घटनाओं के चलते ‘जंगलराज’ करार दे दिए गए बिहार में फिर से ऐसी घटनाएं दस्तक देने लगी हैं. कुछ ही दिन पहले पकड़उवा विवाह के कई मामले सामने आने के बाद अब गंगाजल जैसी दर्दनाक घटना सामने आई है.मालिक की पत्नी के प्रेमी की आंख में लगाया एसिड का इंजेक्शन

बेगूसराय जिले के तेघड़ा इलाके में एक व्यक्ति को भीड़ ने मिलकर बेरहमी से पीटने के बाद उसकी आंखों में एसिड का इंजेक्शन लगा दिया, जिससे पीड़ित की आंखों की रोशनी चली गई. DSP बीके सिंह ने बताया कि शुक्रवार की रात तेघड़ा के पिपरा चौक में यह घटना घटी. पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

जानकारी के मुताबिक, समस्तीपुर निवासी पीड़ित गौतम कुमार पेशे से ड्राइवर है और दयाराम सिंह के यहां वह ट्रैक्टर चलाने का काम करता था. इसी दौरान गौतम और दयाराम की पत्नी के बीच प्रेम संबंध हो गए. कथित तौर पर दयाराम की पत्नी के साथ भागने के चलते उसके साथ मारपीट की गई.

गौतम ने पुलिस के दिए बयान में बताया कि वह तेघड़ा के बरौनी गांव के रहने वाले दयाराम के यहां ट्रैक्टर चलाने का काम करता था. काम करते हुए उसे दयाराम की पत्नी से प्रेम हो गया. बीके सिंह ने बताया कि गौतम 6 फरवरी को दयाराम की पत्नी के साथ भाग गया, जिसके बाद दयाराम ने उसके खिलाफ अपनी पत्नी का किडनैप करने को लेकर शिकायत दर्ज करा दी.

आरोपी दयाराम की पत्नी हालांकि 16 फरवरी को तेघड़ा लौट आई और स्थानीय अदालत में अपना बयान दर्ज करवाया. दयाराम को अपनी पत्नी को घर वापस ले जाने के लिए कहा गया. हालांकि महिला क्यों लौट आई, इसकी वजह अब तक पता नहीं चल सकी है.

शुक्रवार की शाम दयाराम के भाई ने गौतम को फोन किया और कहा कि दयाराम की पत्नी उसके साथ रहना चाहती है, इसलिए वह तेघड़ा पुलिस स्टेशन आकर उसे अपने साथ ले जाए. गौतमतेघड़ा पुलिस स्टेशन जा रहा था तभी पुलिस थाने से महज 1 किलोमीटर पहले करीब 20 लोगों ने उसे घेर लिया.

DSP बीके सिंह ने बताया कि लोगों ने गौतम पर हमला कर दिया और उसकी बेरहमी से पिटाई करने के बाद सिरिंज से उसकी आंखों में एसिड डाल दिया. बुरी तरह पीटने के बाद आरोपियों ने गौतम को भगवानपुर के हनुमान चौक के पास छोड़ दिया.

वहां से गुजर रहे एक व्यक्ति की बुरी तरह घायल अवस्था में वहां पड़े गौतम पर निगाह गई और उसने पीड़ित को अस्पताल पहुंचाया. अस्पताल में डॉक्टरों ने बताया कि गौतम की आंखों को रोशनी चली गई है.

Loading...

Check Also

टेंडर के खेल में भी, निदेशक तकनीकी बीएस तिवारी

#जब निगम और सरकार की मंशा टेंडर के माध्यम से काम कराने की है तो …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com