Home > कारोबार > भारत के व्यापार घाटे दूर करने के लिए ठोस कदम उठाएगा चीन

भारत के व्यापार घाटे दूर करने के लिए ठोस कदम उठाएगा चीन

चीन ने भारत के बढ़ते व्यापार घाटे को दूर करने के लिए ठोस कदम उठाने का आश्वासन दिया है। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने आज कहा कि इसके लिए चीन भारतीय उत्पादों और सेवाओं को अधिक बाजार पहुंच उपलब्ध कराने तथा यहां औद्योगिक पार्क लगाने पर सहमत हुआ है।

चीन के वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री जांग शन के साथ बैठक में प्रभु ने बढ़ते व्यापार घाटे का मुद्दा उठाया। साथ ही बैठक में आयात और निर्यात के बढ़ते अंतर पर भी चर्चा हुई। प्रभु ने कहा, चीन के मंत्री समय के साथ तीन- चार चीजों के जरिये भारत के साथ व्यापार संतुलन बेहतर बनाने पर सहमत हुए हैं। वह व्यक्तिगत रूप से भारत से अधिक आयात कर व्यापार घाटे के मुद्दे को हल करने के इच्छुक हैं।

ई-वे बिल एक अप्रैल से होगा शुरू

उन्होंने बताया कि चीन ने भारत के कृषि, फार्मा तथा अन्य विनिर्मित उत्पादों को अधिक बाजार पहुंच उपलब्ध करानेकी दिशा में काम करने की बात कही है।  वस्तुओं की आवाजाही के लिए पड़ोसी देश सरकार से सरकारके स्तर पर बैठकों के आयोजन पर सहमत हुआ है जिससे फार्मा जैसे क्षेत्रों के नियामकीय मुद्दों को हल किया जा सके। इसके अलावा उद्यमियों एवं व्यावसायियों के स्तर पर भी बैठकें की जाएंगी।

जीएसटी आंकड़ों को साझा करने के लिए स्पष्ट दिशानिर्देश की जरूरत: मुख्य आर्थिक सलाहकार

प्रभु ने कहा कि चीन को सेवाओं के अधिक निर्यात से व्यापार घाटे के मुद्दे को हल करने में काफी मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि अगले कुछ सप्ताह में मंत्रालय चीन के लिए एक प्रतिनिधिमंडल भेजेगा। उन्होंने बताया कि चीन ने भारत में औद्योगिक पार्क स्थापित करने के लिए पुख्ता योजना बनाई है, जिससे निवेश को प्रोत्साहन मिल सकेगा।

चालू वित्त वर्ष की अप्रैल- अक्तूबर अवधि में चीन के साथ भारत का व्यापार घाटा 36.73 अरब डॉलर था। वित्त वर्ष 2016-17 में व्यापार घाटा मामूली घटकर 51 अरब डॉलर रहा, जो इससे पिछले वित्त वर्ष में  52.69 अरब डॉलर था। वित्त वर्ष 2016-17 में दोनों देशों काद्बिपक्षीय व्यापार बढ़कर 71.42 अरब डॉलर पर पहुंच गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 70.71 अरब डॉलर था।

 

Loading...

Check Also

एतिहाद ने 150 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से निवेश का दिया प्रस्ताव,

नकदी संकट का सामना कर रही जेट एयरवेज की मदद के लिए अबू-धाबी की विमानन …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com