भारत-सिंगापुर में रिश्तों का नया दौर जारी, दोनों देशों में हुए कई समझौते

भारत-सिंगापुर के बीच रिश्तों का नया दौर शुरू हो गया है. पीएम नरेंद्र मोदी और सिंगापुर के पीएम ली हेसिन लूंग ने मुलाकात के बाद कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए. समझौतों में निवेश बढ़ाने के साथ आतंकवाद के खिलाफ साझा जंग पर जोर और रक्षा के क्षेत्र में भी मजबूत साझेदारी बढ़ाने पर सहमति हुई है.भारत-सिंगापुर में रिश्तों का नया दौर जारी, दोनों देशों में हुए कई समझौते

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों की अपनी यात्रा के अंतिम चरण में अभी सिंगापुर में हैं. यहां पीएम मोदी ने सिंगापुर के साथ कई समझौते किए. इसके बाद उन्होंने कहा कि दोनों देश सुरक्षा और साइबर सुरक्षा पर मिलकर काम करेंगे. आतंकवाद दोनों देशों के लिए बड़ा खतरा है.

हम दोनों ने मैरिटाइम सिक्योरिटी पर अपने सैद्धांतिक विचारों की पुनः पुष्टि की है और रूल्स बेस्ड ऑर्डर के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है. हमने खुले, स्थिर और उचित अंतर्राष्ट्रीय ट्रेड रिजिम को बनाए रखने की जरूरत पर भी सहमति व्यक्त की है: पीएम

रूपे, भीम और यूपीआई आधारित रिमेटेंस एप का सिंगापुर में कल शाम अंतर्राष्ट्रीय लॉंचिंग के दौरान डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देते हुए हमारी भागीदारी की नवीनता की भावना को दर्शाता है : पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देश सुरक्षा और साइबर सुरक्षा पर मिलकर काम करेंगे. आतंकवाद दोनों देशों के लिए बड़ा खतरा है.

कल शाम सिंगापुर की महत्वपूर्ण कंपनियों के CEOs के साथ राउंड टेबल पर मुझे भारत के प्रति उनके विश्वास को देखकर बहुत प्रसन्नता हुई. भारत और सिंगापुर के बीच एयर ट्रैफिक तेजी से बढ़ रहा है. दोनों पक्ष शीघ्र ही द्विपक्षीय एयर सर्विस एग्रिमेंट की समीक्षा शुरू करेंगे: पीएम

सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली हसीन लूंग ने समझौते के बाद कहा कि हमारे रक्षा संबंध मजबूत हुए हैं, दोनों देशों की नौसेना के बीच आज लॉजिस्टिक्स सहयोग को लेकर एक समझौते पर हस्ताक्षर हुआ हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि इस वर्ष सिंगापुर-भारत समुद्री द्विपक्षीय अभ्यास की 25वीं वर्षगांठ भी मनाएंगे.

भारत और सिंगापुर के बीच कई समझौतों पर हस्ताक्षर हुए हैं.

पीएम मोदी शुक्रवार को सिंगापुर में शांगरी-ला डायलॉग को संबोधित करेंगे. वो यहां तीन देशों के अपने दौरे के आखिरी पड़ाव पर पहुंचे हैं. सिंगापुर में पीएम मोदी का दूसरा दिन है.

शुक्रवार को पीएम मोदी वार्षिक सुरक्षा सम्मेलन शांगरी-ला डायलॉग को संबोधित करेंगे. यह पहली बार होगा जब कोई भारतीय प्रधानमंत्री इस सम्मेलन को संबोधित करेगा. क्षेत्रीय सुरक्षा मुद्दों तथा क्षेत्र में शांति एवं स्थिरता कायम रखने के बारे में यह भारत के विचारों को व्यक्त करने का अवसर होगा.

प्रधानमंत्री शुक्रवार को सिंगापुर के राष्ट्रपति हलीमा याकूब से मुलाकात करेंगे और सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली हेसिन लूंग के साथ प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता करेंगे. इसके बाद मोदी 2 जून को क्लीफोर्ड पियर में एक पट्टिका का अनावरण करेंगे जहां 27 मार्च 1948 को महात्मा गांधी की अस्थियों का विसर्जन किया गया था.

पीएम मोदी का यह दूसरा सिगांपुर दौरा है. शुक्रवार की शाम वो सिंगापुर के नानयांग टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी में जाएंगे. यहां वो ‘ट्रांसफॉर्मिंग एशिया थ्रो इनोवेशन’ विषय पर संबोधित करेंगे. साथ ही कई एमओयू पर हस्ताक्षार करेंगे.

गुरुवार को पीएम मोदी के सिंगापुर पहुंचने पर वहां की सरकार ने 14 उद्योग से उद्योग (बी 2 बी) और उद्योग से सरकार (बी 2 जी) करारों की घोषणा की. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी की मौजूदगी में भारत और सिंगापुर के बीच 14 बी 2 बी और बी 2 जी दस्तावेजों की घोषणा की गई.’

ये करार भारत की नवोन्मेषी और उद्यमशीलता के पारिस्थितिकी तंत्र को समर्थन और विदेश में भारत के नवोन्मेषण को प्रोत्साहन देने से संबंधित हैं. इसके तहत दूषित जल प्रबंधन और रिसाइक्लिंग के लिए भारतीय कौशल संस्थानों की स्थापना की जाएगी, सिंगापुर और आसियान में मेक इन इंडिया को प्रोत्साहन दिया जाएगा. साथ ही इनके तहत अंतरिक्ष क्षेत्र में वाणिज्यिक सहयोग तथा सिंगापुर के अंतरिक्ष उद्योग के विकास पर ध्यान दिया जाएगा.

मोदी तीन देशों की अपनी यात्रा के अंतिम पड़ाव में यहां पहुंचे. बता दें कि अपने तीन दिवसीय दौरे के दौरान पीएम मोदी ने इंडोनेशिया और मलेशिया का दौरा भी किया.

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copy is not permitted !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com