ब्लू व्हेल के बाद अब भारत में मौत को दावत दे रहा है मोमो चैलेंज

- in Mainslide, राष्ट्रीय

ब्लू व्हेल चैलेंज, किकी चैलेंज और मोमो चैलेंज. सोशल मीडिया पर पाए जाने वाले इन खतरनाक खेलों में ऐसा क्या होता है. जो लोग इनके चक्कर में आकर अपनी जान गंवाने तक को राज़ी हो जाते हैं. दरअसल, इंटरनेट पर पाए जाने वाले ये खेल यूज़र के दिमाग से खेलने की कोशिश करते हैं. और चैलेंज के ज़रिए उन्हें मकड़जाल में इस तरह फंसा देते हैं कि इंसान तैश में आकर कुछ भी कर गुज़रता है. खासकर मोमो चैलेंज में तो व्हाट्सएप पर अनजान नंबर से आए मैजेस का रिप्लाई करने भर से ही इंसान इनके जाल में फंसना शुरू हो जाता है. और चैलेंज लेने से इनकार करने पर तो ये लोग उसे खुदकुशी करने तक के लिए मजबूर कर देते हैं.

अनजान नंबर से आती है खौफनाक तस्वीर

पहले ब्लू व्हेल चैलेंज फिर किकी चैलेंज और अब मोमो चैलेंज. एक अजीब सी डरावनी तस्वीर. जिसकी दो बड़ी-बड़ी गोल आंखें हो, जो हल्के पीले रंग की दिखती हो, जिसकी एक डरावनी से मुस्कान हो और टेढ़ी-मेढ़ी नाक हो. अचानक से आपके व्हॉट्सएप मैसेज पर किसी अनजान नंबर से ऐसी कोई तस्वीर आए, तो ज़रा संभल जाइएगा. क्योंकि दुनियाभर में अब ये आतंक और खौफ की नई वजह हैं. इस शैतानी हंसी की दहशत इस कदर है कि दुनिया भर में सोशल मीडिया पर परेशानी का सबब बने इस चैलेंज के बारे में मां-बाप को चेतावनी भी जारी की रही है.

मोबाइल में एक मैसेज और ‘गेम ओवर’

तो फिर अगर वाट्सऐप मैसेज पर ऐसे किसी अनजान नंबर से ऐसी कोई तस्वीर आए तो करें क्या. आपको करना बस ये है कि आपको कुछ नहीं करना है. यानी उसका जवाब मत दीजिए. क्योंकि इधर आपने मैसेज का रिप्लाई किया और उधर आप इस शैतानी हंसी के जाल में फंस गए समझिए. ब्लू व्हेल के बाद अब नया जानलेवा गेम

ब्लू व्हेल चैलेंज अभी आप भूले नहीं होंगे. जिसने पूरी दुनिया के अलावा हिदुस्तान में भी कई जानें लील लीं. अभी उस खौफ की तस्वीरें ज़हन से मिटी भी नहीं थीं कि अब सोशल मीडिया पर एक जानलेवा गेम आ गया है. नाम है मोमो चैलेंज. ब्लू व्हेल जितना ही खतरनाक और जानलेवा. भारत में भी अब तक इस गेम के झांसे में आकर कई लोग अपनी जान गवां बैठे हैं. मोमो चैलेंज कितना खतरनाक है और कैसे ये ले रहा है लोगों की जान ये बताने से पहले ये जानना ज़रूरी है कि आखिर ये मोमो चैलेंज है क्या.

क्या है ये मोमो चैलेंज?

* व्हॉट्सएप पर अंजान नंबर से आता है मैसेज

* मैसेज करने वाला अपने आपको बताता है ‘मोमो’

* नंबर पर बात करने के लिए मिलता है चैलेंज

* फोन पर डरावनी तस्वीरें और वीडियो आते हैं

* अनजान ‘मोमो’ अपना नंबर सेव करने को कहता है

* लोगों को दिए जाते हैं कई तरह के टास्क

* टास्क पूरा ना करने पर मिलती हैं धमकियां

* डरकर खुदकुशी को मजबूर हो जाते हैं लोग

भारत में भी जान ले रहा है मोमो चैलेंज

अब तक मिली जानकारी के मुताबिक मोमो चैलेंज की वजह से भारत में तीन लोग सुसाइड कर चुके हैं. और ये तीनों ही मामले पश्चिम बंगाल में सामने आए हैं. इसके अलावा सूबे के ही जलपाईगुड़ी, कुर्सेओंग और पश्चिम मिदनापुर ज़िले से मोमो चैलेंज की वजह से खुदकुशी की कोशिश के मामले रिपोर्ट किए गए हैं. लिहाज़ा बंगाल में इस गेम को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है. खुद पुलिस अधिकारी ट्वीटर और दूसरे माध्यमों से माता-पिता को इस जानलेवा गेम को लेकर आगाह कर रहे हैं. ताकि वो अपने बच्चों पर नज़र रखें. इसके अलावा पश्चिम बंगाल सीआईडी ने भी सार्वजनिक नोटिस जारी करके लोगों को सलाह दी कि अगर उन्हें मोमो चैलेंज गेम खेलने का इनविटेशन मिले तो वो पुलिस से संपर्क करें. इससे पहले यूपी पुलिस और मुंबई पुलिस भी ऐसी एडवाइज़री जारी कर चुकी हैं.

किसी ने काट ली नस, किसी ने लगा ली फांसी

मोमो चैलेंज की वजब से देशभर के मम्मी पापा अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर काफी परेशान हैं. एक भयानक ट्रेंड के चलते बच्चे ऑनलाइन गेम्स के झांसे में आकर न सिर्फ खुद को नुकसान पहुंचा रहे हैं बल्कि जान भी दे रहे हैं. भारत में ये गेम पिछले करीब 2-3 महीने से कोहराम मचाए हुए है. मोमो चेलेंज लेकर अपनी जान गंवाने वालों में किसी ने नसें काट लीं. तो किसी ने फांसी का फंदा लगा लिया और किसी ने छत से कूदकर जान दे दी. एक बच्ची ने तो खुदकुशी से पहले घरवालों के नाम एक खत लिखा जिसमें एक स्माइली बना हुआ था. जो उस शैतानी हंसी जैसा है.

लोगों के बीच डर का माहौल बनाने और खुदकुशी के लिए मजबूर कर देने वाले इस गेम में आखिर है ऐसा क्या. ये जानना अपने आप में दिलचस्प है. दरअसल, मोमो चैलेंज देने वाला आपको वॉट्सऐप पर एक अनजान नंबर से मैसेज करेगा. पहले वो आपसे हाय-हैलो करता है और धीरे-धीरे बात को आगे बढ़ाता है. अगर आप उस से पूछते हैं कि आप कौन हैं तो वो अपना नाम बताता है ‘मोमो’. अपने नाम के साथ वो तस्वीर भी भेजता है.

इसके बाद वो अंजान यूज़र जिससे आप बात करना शुरू कर चुके हैं. वो आपको कहता है कि आप उसका नंबर सेव कर लें इसके बाद वो खुद को दोस्त बनाने के लिए कहता है. अगर आप उसे मना कर देते हैं तो वो आपकी निजी जानकारियां सार्वजनिक करने की धमकी देता है. और आगे वो आपको अलग-अलग तरह के चैलेंज देता है. इसमें टास्क की एक सीरीज़ होती है जिसके जरिए इसे खेलने वाला फाइनल टास्क तक पहुंचता है. फाइनल टास्क में प्लेयर को अपनी जान देने का चैलेंज दिया जाता है. एक क्राइम इंवेस्टिगेशन यूनिट के मुताबिक अगर आप अनजान नंबर से आए मैसेज पर मोमो से बात करते हैं तो आपको पांच तरह के ख़तरे हो सकते हैं.

ऐसे धमकाता है ‘मोमो’

* निजी जानकारी का सार्वजनिक होना

* आत्महत्या या हिंसा के लिए उकसाना

* धमाकाना

* उगाही करना

* शारीरिक और मनोवैज्ञानिक तनाव पैदा करना

इन दिनों वॉट्सऐप पर मोमो वाला अंजान नंबर काफी वायरल हो रहा है. फिलहाल जिसका कंट्री कोड जापान का है. अब तक मिली जानकारी के मुताबिक ‘मोमो चैलेंज’ की शुरुआत अर्जेंटीना से बताई जा रही है. वहीं पर इसने सबसे पहले अपना शिकार बनाया था. गूगल पर मोमो चैलेंज सर्च करने पर जो फोटो आती है उसे जापान की मिडोरी हयासी ने मजाक-मजाक में बनाया था. मगर मज़ाक में बनाई गई उनकी ये फोटो दुनिया के लिए खौफ का सबब बन जाएगी ये उन्होंने भी नहीं सोचा था.

फेसबुक से शुरू हुआ मौत का खेलमेमो चैलेंज नाम का ये जानलेवा खेल फेसबुक से शुरू हुआ है. और अब व्हाट्सऐप के ज़रिए लोगों को शिकार बना रहा है. ये गेम अमरीका से अर्जेंटीना, फ्रांस, जर्मनी सब जगह फैल चुका है. इसकी दस्तक अब भारत में भी है. हालांकि साइबर एक्सपर्ट्स का मानना है कि ऐसा कोई चैलेंज असल में है ही नहीं है. ये सिर्फ लोगों की पर्सनल जानकारी चुराने और लोगों को डराने की कुछ बदमाशों की करतूत है. लिहाज़ा ऐसी किसी भी अफवाह और धमकी से सतर्क रहें. व्हॉट्सएप या फेसबुक पर अगर बच्चा ज्यादा सक्रिय रहता है, तो उस पर नजर रखें. और मोमो चैलेंज के खतरे से अपने बच्चों को ऐसे बचाएं. हालांकि इस गेम का शिकार सिर्फ बच्चे ही नहीं हो रहे हैं लिहाज़ा तमाम लोग इसे गौर से सुनें.

ऐसे बचें मोमो चैलेंज गेम से

* किसी अनजान नंबर पर ना बात करें.. और ना ही उसे सेव करें

* वाट्सएप नंबर सिर्फ विश्वसनीय लोगों को ही दें

* अगर को मोमो चैलेंजज दे तो फौरन उस नंबर को ब्लॉक कर दें

* मोमो चैलेंज गेम खेलने वाले दोस्तों से दूर रहें.. और पुलिस को सूचित करें

* आपका बच्चा इंटरनेट पर क्या कर रहा है उसपर अपनी नज़र बनाए रखें

* बच्चो की आदतों में बदलाव देखें तो फौरन मनोचिकित्सक की सलाह लें

* बच्चों को इस तरह के खेलों को खेलने से रोकने के लिए उनसे बात करें

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हर चीज जरूरी नहीं की आपके जरूरत की ही हों.. लिहाज़ा सोशल मीडिया का इस्तेमाल सावधानी से करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सड़क पर चलना हो जाएगा महंगा, पेट्रोल के बाद 14% तक चढ़ सकते हैं CNG के दाम!

सड़क पर चलने वालों के लिए बुरी खबर है.