बारिश से हुई परेशानी

भारत को गोल करने का पहला बड़ा मौका 22वें मिनट में मिला जब मैदान पर पानी भरा होने के कारण कीनिया के डिफेंडरों से चूक हो गई और गेंद सीधे भारतीय कप्तान के पास पहुंच गई. छेत्री ने दनदनाता हुआ शाट मारा लेकिन गेंद क्रासबार के ऊपर से बाहर निकल गई. कीनिया को भी 25वें मिनट में अच्छा मौका मिला लेकिन भारतीय गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू ने पेटिलाह ओमोटो के प्रयास को नाकाम कर दिया. दोनों टीमों के खिलाड़ियों को मैदान पर काफी पानी जमा होने के कारण पासिंग में काफी परेशानी हो रही थी और कई अच्छे मूव बनाने के बावजूद कोई भी टीम गोल नहीं कर सकी जिससे मध्यांतर तक स्कोर 0-0 रहा.

68वें मिनट में पहला गोल

दूसरे हाफ में कीनिया ने तेज शुरुआती की. तीसरे ही मिनट में ओवेला ओचींग ने अच्छा मूव बनाते हुए भारत के सेंटर बैक को छकाया लेकिन उनका शाट गोल से दूर रहा. दो मिनट बाद मुतांबा ने भी संदेश झिंगन और अनस एडाथोडिका को छकाया लेकिन उनका शाट भी निशाने से दूर रहा. होलीचरण नार्जरी ने 55वें मिनट में शानदार मूव बनाते हुए गेंद छेत्री के पास पहुंचाई लेकिन भारतीय कप्तान इसे गोल में बदलने में नाकाम रहे.कीनिया के माइकल किबवागे ने इसके बाद छेत्री पर बाक्स के अंदर फाउल किया जिससे भारत को पेनल्टी किक मिली और कप्तान ने इसे गोल में बदलने में कोई गलती नहीं करते हुए 68वें मिनट में मेजबान टीम को 1-0 से आगे कर दिया. यह छेत्री का 60वां अंतरराष्ट्रीय गोल था.