एक्सपेरिमेंट के चक्कर में मां को खिलाई वियाग्रा, फिर बच्चों के साथ हुआ ऐसा कि…

- in ज़रा-हटके

कभी कभी परीक्षण के दौरान छोटी सी गलती से बहुत बड़ा नुकसान हो जाता है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है नीदरलैंड में जहां परीक्षण के लिए गर्भवती महिलाओं को वियाग्रा की दवाई दे दी गई। जिससे 11 बच्चों की मौत हो गई। हालांकि इसके बाद इस प्रयोग को रोक दिया गया।  एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सामने आया कि शोध के दौरान कुछ गर्भवती महिलाओं को यौनवर्धक दवाइया जी जा रही थी।

यह शोध उन महिलाओं पर किया जा रहा था जिनके बच्चों की गर्भनाल कमजोर थी। बाद में सामने आया कि वियाग्रा दिए जाने से महिलाओं मे बल्डप्रेशर तेज हुआ। जिसकी वजह से बच्चों के फेफड़ो पर गलत असर पड़ा और उनकी मौत हो गई। हालांकि ऐसा प्रयोग पहले भी ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में किया जा चुका था। जहां कोई नुकसान सामने नहीं आए थे, पर उस शोध का खास परिणाम भी सामने ऩहीं आया था।Image result for वियाग्रा

वियाग्रा एक ऐसी दवा है जिसकी जांच व परिणाम की सख्त जरूरत है। चिकित्सकों के अनुसार प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई सारे बदलाव आते है। जिनकी वजह से कई सारी परेशानियों का समाना भी करना पड़ता है, गर्भनाल भी इन समस्याओं में से एक है। कमजोर गर्भनाल की वजह से पेट में ही बच्चों का विकास रुक जाता है। अभी तक इस बिमारी का कोई इलाज विकसित नहीं किया गया है। इसी के चलते यह शोध किया गया था। शोध में कुल 93 महिलाओं को शामिल किया गया था।

जिनमें से 90 महिलाओं को वियाग्रा दी गई थी। जबकि तीन को डमी दवा दी गई थी। बाद में पता चला कि इनमें शामिल 20 बच्चों को फेफड़ों की बिमारी हो गई थी। जिनमें से 11 बच्चों की मौत हो गई। चिकित्सकों ने बताया की ग्रभावस्था के दौरान बहुत सी समस्याएं आती है, जिनका पता अल्ट्रासाउंड के बाद ही चल पाता है। इसके बाद चिकित्सकों ने माना कि वियाग्रा शरीर में नुकसान करती है। लेकिन अभी तक अंतिम परिणाम नहीं आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बच्चे को खाने में दिया सलाद तो बुला ली पुलिस, उसके बाद…

अक्सर ऐसा होता है कि बच्चों को खाने