भाजपा के सहभोज में लगेगा देसी घी का तड़का

देहरादून: भाजपा के सहभोज कार्यक्रम में बनने वाला भोजन शुद्ध देसी घी से बनेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत कार्यक्रम के लिए अपनी ओर से दो टिन देसी घी देंगे। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पार्टी की महानगर इकाई ने कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी तय कर दी है। कार्यकर्ता अपने क्षेत्र के घर-घर से रोटी लेकर आएंगे, जबकि उड़द की दाल और चावल की व्यवस्था पार्टी की ओर से होगी।भाजपा के सहभोज में लगेगा देसी घी का तड़का

भाजपा के समरसता अभियान की शुरुआत 13 अप्रैल को देहरादून में सहभोज के साथ शुरू होगी। सहभोज में अनुसूचित जाति और सामान्य जाति के लोग एकसाथ भोजन करेंगे, जिसमें मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी शामिल होंगे। मोहिनी रोड स्थित सामुदायिक भवन में सहभोज होगा।

परेड ग्राउंड स्थित भाजपा महानगर कार्यालय में अध्यक्ष विनोद गोयल ने सभी कार्यकर्ताओं से कार्यक्रम को सफल बनाने का आह्वान किया और जिम्मेदारियां भी तय कीं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक पार्षद अपने क्षेत्र के परिवारों से खाने के 30 पैकेट लेकर आएंगे। एक परिवार से अधिकतम एक ही पैकेट लाया जाए। पैकेट में चार रोटी, चार पूड़ी या फिर चार परांठे ही होंगे। 

महिला मोर्चा, मंडल पदाधिकारी और पार्षद के दावेदार 10 पैकेट लेकर आएंगे। सभी कार्यकर्ता लाए गए खाने के पैकेट इकट्ठा करके अपने मंडल में जमा करेंगे। महानगर महामंत्री खाने के पैकेट का रिकॉर्ड रखेंगे। 

बैठक में समरसता अभियान की उत्तराखंड युवा मोर्चा संयोजक नेहा जोशी, राजपुर रोड विधायक खजान दास, महानगर महामंत्री राजेंद्र ढिल्लो, आदित्य चौहान, श्याम पंत, सुशील गुप्ता, एडवोकेट राजकुमार पुरोहित, पार्षद सचिन गुप्ता, राकेश मजखोला, भूपेंद्र कठैत, कमली भट्ट, नीरू भट्ट, वर्षा बडोनी, सतीश कश्यप, जीवन सिंह, सीताराम भट्ट, हरीश डोरा आदि मौजूद रहे।

युवाओं की भागीदारी बढ़ाने पर दिया जोर 

सहभोज में युवाओं की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए हर मंडल से युवाओं को कार्यक्रम में लाने का जिम्मा भाजयुमो का होगा। गोयल ने तय किया कि प्रत्येक मंडल से 101 बाइक रैली के रूप में कार्यक्रम स्थल पर पहुंचेंगी। अनुसूचित जाति मोर्चा के पदाधिकारियों और मंडल अध्यक्षों को अपने-अपने क्षेत्र में पडऩे वाली बस्तियों से लोगों को कार्यक्रम स्थल तक लाने की जिम्मेदारी दी गई है। 

उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति के लोगों को कार्यक्रम में उचित सम्मान और सभी को बैठने की जगह उपलब्ध करवाना हर कार्यकर्ता की जिम्मेदारी होगी। इस दौरान बस्ती में रहने वाली छात्रा या राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर का कोई खिलाड़ी होगा तो उसे सम्मानित भी किया जाएगा।

टिकट के दावेदारों की बड़ी सक्रियता 

निकाय चुनाव नजदीक आते ही महापौर पद के लिए टिकट की दावेदारी कर रहे नेताओं की सक्रियता लगातार बढ़ रही है। बैठक से पहले महानगर कार्यालय के गेट पर ही दावेदारों ने कार्यकर्ताओं से मिलने का सिलसिला शुरू कर दिया था। नीलम सहगल, विनोद उनियाल, सुनील उनियाल गामा, वरिष्ठ नेता एडवोकेट राजकुमार पुरोहित, दिनेश सिंह रावत इनमें मुख्य रूप से शामिल रहे। वरिष्ठ नेताओं से आशीर्वाद लेने में भी दावेदार पीछे नहीं रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के