नई दिल्ली: रेलवे ने यात्रियों को कई सुविधाएं दे रखी हैं, जिनके बारे में अधिकतर यात्री नहीं जानते हैं. अगर आप ऐसी कोच में सफर कर रहे हैं और आपका ऐसी खराब हो जाता है तो यात्री उसके बदले में कुछ किराया वापस ले सकते हैं. इसके लिए यात्री को रिफंड क्लेम करना होगा. हालांकि इसके लिए रेलवे ने कुछ शर्ते भी रखीं है. सफर के दौरान ट्रेन में एसी जितनी दूरी  तक खराब रहेगा, उतनी दूरी तक ऐसी ( जिस क्लास का होगा) के किराए का अंतर वापस होगा.कुछ ऐसे ट्रेन में AC खराब होने पर मिलेगा किराया वापस

अगर ई टिकट है तो यात्री को IRCTC के लाॅगइन पर टीडीआर भरना होगा. टीडीआर के आधार पर IRCTC रेलवे के दावा अनुभाग से रिपोर्ट मांगेगा. यात्री को इस बात का ध्यान रखना होगा कि रेलवे मूल प्रमाण पत्र (जीसी / ईएफटी) प्राप्त करने के बाद ही टीडीआर के माध्यम से धनवापसी करेगा. दावा आईआरसीटीसी द्वारा संबंधित क्षेत्रीय रेलवे को भेजा जाएगा. राशि यात्री के उसी खाते में जमा की जाएगी जिसके माध्यम से भुगतान किया गया था.

बता दें कि इसके अलावा सरकार ने बुधवार को कहा कि कम यात्री वाली ट्रेनों में आरक्षण चार्ट तैयार होने पर खाली रहने वाली सीट या बर्थ के लिए किराये रेलवे 10 फीसदी की छूट दे रही है. यह छूट मूल किराये में दी जाएगी.