गोरखपुर में इस वर्ष टूटेगा गर्मी का र‍िकार्ड, 2021 की तुलना में पांच से छह गुनी अधिक पड़ेगी गर्मी

2019 के बाद फिर गोरखपुर जमकर तपेगा। मौसम विशेषज्ञ ने पूर्वानुमान जताया है कि इस वर्ष 28 से 30 दिन का तापमान 40 डिग्री सेल्सिस से अधिक रह सकता है। इससे पहले 2019 में 41 दिन ऐसे रहे हैं, जिनका तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा है। मौसम विशेषज्ञ के बताया कि पृथ्वी के चुंबकीय बल से सूर्य की सतह पर इस बार उच्च ऊर्जा का विकिरण हो रहा है। इसके साथ ही ध्रुवीय क्षेत्र से इस बार ठंड जल्द खत्म हो गई। इसके चलते इस बार उत्तर भारतीय क्षेत्र में गर्मी अधिक पड़ रही है।

2019 में 41 दिन का तापमान रहा है 40 डिग्री से अधिक

वर्ष 2019 को पिछले 45 वर्षों में सबसे गर्म वर्ष के रूप में जाना जाता है। उसके बाद 2005 में 38 दिन ऐसे रहे हैं, जिनका तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा है। तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक होने पर स्थिति असहनीय जैसी रहती है। इस तापमान में 10 मिनट की भी धूप लोगों पर भारी पड़ती है। बीते माह अप्रैल में नौ दिन ऐसे रहे हैं, जिनका तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा है। मौसम विभाग का मानना है कि अभी लोगों को 21 से 22 दिन लोगों को इस गर्मी का सामना करना पड़ सकता है।

इस वर्ष पड़ेगी भीषण गर्मी

वर्ष 2020 व 2021 की तुलना में इस वर्ष पांच से छह गुनी अधिक गर्मी पड़ेगी। 2020 में 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक पांच व 2021 में 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक सात दिन रहे हैं। बता दें जिस दिन का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहता है उसे हाट डे कहते हैं।

45 वर्षों में यह साल रहा सर्वाधिक गर्म(तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक)

वर्ष दिन

2019 41

2005 38

2010 35

1980 30

1979 30

2022 30 (संभावित)

इन वर्षों में कम रहा गर्मी का प्रभाव (तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक)

वर्ष दिन

1984 0

1993 1

1988 3

1989 3

2011 3।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

six + eight =

Back to top button