कड़वे प्रवचन करने वाले इस संत के सामने सरकार आई बचाव की ‘मुद्रा’ में

एक जैन मुनि ने विरोध किया तो सरकार बचाव की मुद्रा में आ गई। पहले यूडीएच मंत्री इस संत के पास पहुंचे और अपनी बात रखी। आज सीएम राजे ने मुलाकात की।
कड़वे प्रवचन करने वाले इस संत के सामने सरकार आई बचाव की 'मुद्रा' में
दरअसल पूरा मामला जयपुर में प्रस्तावित नए एयरपोर्ट के लिए जमीन अवाप्ति से जुड़ा है। जैन समाज का आरोप था कि इस अवाप्ति में जैन समाज की आस्थान का केंद्र बाड़ा पदमपुरा जैन मंदिर भी आ रहा है। इसके बाद जैन मुनि तरुण सागर महाराज ने 24 दिसंबर को मौन जुलुस निकालने की अपील की थी।

मुनि तरुण सागर ने जयपुर में कहा था कि बाड़ा पदमपुरा की जमीन को इस एयरपोर्ट की जद में लिया तो उसका विरोध किया जाएगा।  इसके बाद कल यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने जैन मुनि तरुण सागर से मुलाकात की। वे बाडा पदमपुरा मंदिर गए। उन्होंने मुनि को विश्वास दिलाया कि एयरपोर्ट के लिए जो जमीन आवाप्त की जा रही है, उसमें जैन मंदिर की जमीन को किसी तरह की नुकसान नहीं होगा।

सीएम ने दिलाया विश्वास

सरकार की ओर से पूरी तरह प्रयास किए जा रहे थे कि इस मौन जुलुस को रोका जाए। इसके चलते आज सुबह जैन मुनि तरुण सागर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से मिलने मुख्यमंत्री निवास पहुंचे। वहां सीएम और जैन मुनि के बीच लंबी बातचीत भी हुई।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मुलाकात के  बाद कहा कि प्रदेश में आस्था के किसी भी केंद्र को नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। जैन मुनि तरुण सागर महाराज से भी मुलाकात कर पूरा विश्वास दिलाया गया है। इस मुलाकात के बाद जैन समाज की ओर से मौन जुलुस स्थगित कर दिया गया है।

 

Facebook Comments

You may also like

युवती बोली- मैंने शादी कर ली है, धर्म परिवर्तन भी करूंगी

दस दिन पहले अपहृत युवती को पुलिस ने