ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने कहा कि भावनाएं और आक्रामकता खेल का हिस्सा हैं और वह मैदान पर रोबोट नहीं देखना चाहते हैं लेकिन साथ ही उन्होंने आगाह भी किया अपने व्यवहार से ‘सीमा नहीं लांघे’.

ऑस्ट्रेलिया का वर्तमान दक्षिण अफ्रीका दौरा मैदान पर झड़प के कारण भी चर्चा में रहा है. दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज कगिसो रबाडा पर दूसरे टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ के साथ कंधा टकराने के कारण दो मैच का प्रतिबंध लगा है. उन्होंने इसके खिलाफ अपील की है.

ली ने कहा कि नियंत्रित आक्रामकता खेल के लिये अच्छी होती है. उन्होंने भारत और बांग्लादेश के बीच कोलंबो में त्रिकोणीय टी20 फाइनल से पूर्व कहा, ‘‘मैं ईमानदारी के साथ यही कहना चाहूंगा कि हम मैदान पर रोबोट नहीं चाहते हैं.’’

कल बैटिंग के लिए आने से पहले खफा थे दिनेश कार्तिक, रोहित ने ऐसे मनाया

ली ने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर एक सीमा होती है जिसे खिलाड़ियों को नहीं लांघना चाहिए. आप किसी पर नस्ली टिप्पणी नहीं करें, आप किसी के खिलाफ ऐसे अपशब्दों का उपयोग नहीं करें जो उसे सुनने वाले बच्चों को परेशान कर सकते हों. इसके अलावा आपको कड़ी क्रिकेट खेलनी होगी.’’