बिहार में सियासत के बनते-बिगड़ते समीकरण और सबने कहा-ईद मुबारक

पटना। ईद के लिए चांद का इंतजार और चांद दिखते ही ईद मुबारक का पैगाम लोगों ने सोशल मीडिया के जरिए एक-दूसरे को भेजा। किसी ने चैट से तो किसी ने फेसबुक लाइव के जरिए दूर-दराज बैठे रिश्तेदारों को ईद की शुभकामनाएं दीं। बिहार की सियासत में भी ईद मुबारक का दौर चलता रहा। इस बीच गया में मां-बेटी से दरिंदगी की घटना से सियासत गरमाई रही।बिहार में सियासत के बनते-बिगड़ते समीकरण और सबने कहा-ईद मुबारक

ईद के पहले सला सियासी ईफ्तार का दौर

ईद से पहले बिहार में सियासी इफ्तार का दौर चला। इनमें राजनीतिक रिश्तों के बनते-बिगड़ते समीकरण दिखाई दिये। इफ्तार पार्टी के बहाने एनडीए की खींचतान सरेआम दिखी तो इसी बहाने तेजस्वी ने गठबंधन से नाराज चल रहे रालोसपा के उपेंद्र कुशवाहा की ओर अपना पासा फेंकते हुए कहा कि अगर वो चाहें तो हमारे गठबंधन में आ सकते हैं। इसका जवाब देते हुए कुशवाहा ने कहा कि वे एनडीए में थे और रहेंगे। इसपर हिंदुस्‍तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने यह भी कहा कि कुशवाहा की ना का मतलब हां होता है।

उपेंद्र कुशवाहा एनडीए के घटक दलों की इफ्तार पार्टी में नहीं गए तो उनकी इफ्तार पार्टी में भी भाजपा के कुछ नेता ही दिखाई दिए।

जदयू-भाजपा की इफ्तार पार्टी छोड़ भाजपा सांसद और मशहूर अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा राजद की इफ्तार पार्टी में पहुंचे। इसकी चर्चा राजनीतिक गलियारों सहित सोशल मीडिया पर भी खूब हुई। इससे संबंधित तस्वीरें भी सोशल मीडिया में खूब शेयर की गईं। यूजर्स ने तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दीं।

मीसा भारती ने शत्रुघ्न को राजद के टिकट से चुनाव लडऩे का ऑफर दिया। शत्रुघ्न ने तो हंसकर टाल दिया लेकिन तेजप्रताप ने कहा-हां क्यों नहीं? तो इसपर शत्रुघ्न ने कहा-आपके मुंह में घी-शक्कर।

गया में मां-बेटी से दरिंगदी पर गरमाई राजनीति, उबला सोशल मीडिया

उधर, गया में मां-बेटी से सामूहिक दुष्‍कर्म की अमानवीय घटना ने जहां पुलिस और प्रशासन को कटघरे में ला दिया वहीं इसे सियासत भी जारी है। गया के गुरारू इलाके में एक पिता के सामने उसकी बेटी और पत्नी के साथ दरिंदों ने अमानवीय कृत्य को अंजाम दिया। इसका खुलासा होते ही विपक्ष ने सरकार को पूरी तरह विफल करार देते हुए राज्य में कानून-व्यवस्था को ध्वस्त बताया और राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की।

घटना को लेकर तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार पर आरोप लगाते हुए ट्वीट किया।जिसमें उन्होंने पूछा कि आदरणीय चाचा जी, मौत किसे कहते हैं? सांसे थम जाना मौत नहीं है, मौत है संवेदनाओं का मर जाना। अपनी अंतरात्मा को झिंझोडि़ए उसे जगाईए ताकि किसी बेबस बाप को अपनी पत्नी और बेटी, किसी भाई को अपनी बहन का बलात्कार न देखना पड़े।

घटना के बाद राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही। राजद नेताओं ने मामले में नाबालिग पीडि़ता को जबरन गाड़ी से उतारकर उसके साथ फोटो खिंचवाया, जिसका वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने सबपर एफआइआर दर्ज करा दी। राजद नेताओं की इस हरकत पर कांग्रेस ने भी भौहें चढ़ा लीं और इसे गलत करार देते हुए इसकी निंदा की। यह वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है।

घटना की गूंज सोशल मीडिया पर भी सुनाई दे रही है और लोग इस घटना को शर्मनाक बताते हुए इसकी कड़ी निंदा कर रहे हैं। 

लालू के बर्थ-डे के बीच उमड़ा तेजस्वी-तेजप्रताप का भातृप्रेम

इन सबके बीच लालू यादव के जन्मदिन के केक की मिठास के बीच तेजस्वी-तेजप्रताप का भातृप्रेम भी सोशल मीडिया पर खूब दिखा। लोगों ने इस तस्वीर पर रिट्वीट किया और लालू यादव को जन्मदिन की बधाई दी। राबड़ी देवी ने लालू के जन्मदिन के मौके पर दोनों बेटों को अपने हाथ से केक खिलाया फिर तेजस्वी और तेजप्रताप ने एक-दूसरे को केक खिलाया। जिसके बाद तेजप्रताप ने फिर ऐलान किया कि मैं कृष्ण हूं और तेजस्वी मेरा अर्जुन है। मेरे कलेजे का टुकड़ा है। खून का एक-एक कतरा भाई को दे दूंगा

…और अंत में

राहुल गांधी ने कहा- अत्यंत गरीबी की वजह से उत्तर प्रदेश के गरीब लोग सुबह लकड़ी खाने को मजबूर हैं। एक बुजुर्ग ने कहा- अरे बबुआ, उसको दातून बोलते हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कांग्रेस का दलित-सवर्ण कार्ड में नहीं विश्वास : मदन मोहन

पटना। तकरीबन 11 महीने के लंबे अंतराल के बाद