इस मोबाइल ऐप की मदद से इमरान खान ने जीता पाकिस्तान चुनाव

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) आम चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. विपक्षी दलों का आरोप है कि चुनाव में पाकिस्तान की आर्मी ने इमरान को समर्थन दिया. लेकिन, राजनीतिक जानकारों के मुताबिक, चुनावों में इमरान खान को जीत दिलाने में फोन ऐप और डेटाबेस ने अहम भूमिका निभाई.इस मोबाइल ऐप की मदद से इमरान खान ने जीता पाकिस्तान चुनाव

25 जुलाई को नेशनल असेंबली की 270 सीटों पर हुए चुनाव में इमरान खान की पार्टी को 116 सीटें हासिल हुईं. इमरान खान पाकिस्तान की आज़ादी के दिन यानी 14 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ भी लेने वाले हैं. पाकिस्तान के मशहूर अखबार ‘Dawn’ की रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 के चुनावों के लिए पीटीआई ने खास रणनीति अपनाई. चुनावी कैंपन में डिजिटल तरीकों का इस्तेमाल किया गया. इमरान की पार्टी ने फोन ऐप से वोटर्स को जोड़ा और 5 करोड़ लोगों के डेटाबेस के जरिये योजना बनाई. इस योजना को विरोधी पार्टियों से छिपाया गया, ताकि वे इसकी नकल न कर सकें.

रिपोर्ट में कहा गया है कि डेटाबेस और ऐप के इस्तेमाल से 31.87 फीसदी हो गया, जो पिछले चुनाव का लगभग दोगुना है. 2013 में पीटीआई का वोट शेयर 16.92 फीसदी था. बता दें कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को संघ और प्रांतों के चुनाव हुए थे. पाकिस्तान में करीब 10.5 करोड़ वोटर हैं. इस बार 48% वोट पड़े. इस चुनाव में नवाज़ शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) को 64 और आसिफ अली जरदारी की पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) को 43 सीटें मिलीं. ये दोनों पार्टयां इमरान खान को समर्थन दे रही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

China के सबसे ‘शक्तिशाली’ व्‍यक्ति की चेतावनी, ट्रेड वार से होगी सबसे ज्‍यादा बर्बादी

चीन के सबसे अमीर और शक्तिशाली व्‍यक्ति जैक मा ने