CBI के सामने ली रिश्‍वत, और चकमा देकर फरार हुआ दिल्‍ली पुलिस का ASI

- in दिल्ली, राज्य

देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी का तमगा रखने वाली सीबीआई पिछले 20 दिन से दिल्ली पुलिस के एक ASI की तलाश में जुटी है. लेकिन ये ASI इतना शातिर है कि सीबीआई को चकमा देने में कामयाब हो गया. एएसआई ने पटियाला हाउस कोर्ट में अपनी अग्रिम जमानत याचिका लगा दी है.

CBI के सामने ली रिश्‍वत, और चकमा देकर फरार हुआ दिल्‍ली पुलिस का ASIदरअसल, मंदिर मार्ग में तैनात रहे एएसआई ओमप्रकाश नाम को रिश्‍वत लेते रंगे हाथ पकड़वाने के लिए एक ऑटो रिक्‍शा चालक ने सीबीआई को संपर्क किया था. सीबीआई आर के आश्रम मेट्रो स्टेशन पर पुलिसकर्मी को पकड़ने भी पहुंची. लेकिन इस बात की जानकारी एएसआई को हो गई.

इसके बाद ASI ओमप्रकाश रिश्‍वत की रकम के साथ मौके से फरार हो गया. तभी से सीबीआई उसकी तलाश में जुटी हुई है. एएसआई पर आरोप है कि वो ई रिक्‍शा चालकों से महीने की 33 हजार की रिश्‍वत लेता था.

वहीं, सीबीआई का कहना है कि एएसआई को इस लिए नहीं पकड़ पा रहे क्‍योंकि मंदिर मार्ग थाने के एसएचओ ने हमें उसका एड्रेस तक नहीं दिया. ASI ओम प्रकाश मंदिर मार्ग थाने में ही तैनात था.

ऐसे में सवाल उठता है कि एसएचओ अपने रिश्वतखोर ASI को बचाने में क्‍यों लगे हैं. वहीं, एएसआई ने पटियाला हाउस कोर्ट में अपनी अग्रिम जमानत याचिका लगा दी है.इससे जाहिर है कि तमाम बड़े खुलासे करने का दावा करने वाली सीबीआई दिल्‍ली पुलिस के एएसआई के सामने हांफती नजर आ रही है. एएसआई ओमप्रकाश के बारे में रिक्‍शा चालकों का भी कहना है कि वो बेहद शा‍त‍िर किस्‍म का है. इसकी जानकारी सीबीआई को भी दी गई थी. इसके बावजूद एएसआई फरार होने में कामयाब रहा.

You may also like

उत्तर प्रदेश सरकार चीनी मिलों को दिलवाएगी 4,000 करोड़ रुपये का सस्ता कर्ज

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य की चीनी मिलों