Home > राष्ट्रीय > बेटे और बहू को मिलाने के लिए 70 साल की बूढी अकेले लड़ रही समाज और कानून से जंग

बेटे और बहू को मिलाने के लिए 70 साल की बूढी अकेले लड़ रही समाज और कानून से जंग

बेटे और बहू को मिलाने के लिए: अक्सर कहा जाता है कि पुलिस और समाज दोनों लोगों की भलाई के लिए हैं। जहाँ पुलिस का काम लोगों को के साथ अन्याय ना हो इसको देखना होता है, वहीँ समाज का काम किसी व्यक्ति को उचित माहौल प्रदान करने का है। लेकिन जब ये दोनों की किसी के लिए दुश्मन बन जाएँ तो फिर क्या होगा। ऐसा ही कुछ हुआ है एक 70 साल की बूढी माँ के साथ। 70 साल की यह महिला अपने बहू और बेटे को मिलाने के लिए जमाने से अकेले ही जंग लड़ रही है।

बेटे और बहू को मिलाने के लिए 70 साल की बूढी अकेले लड़ रही समाज और कानून से जंगदोनों ने घर से भागकर कर ली आर्यसमाज मंदिर में शादी:

उसके राह में समाज के साथ ही कानून की कई अड़चने भी आ रही हैं। लेकिन बहू और बेटे को मिलाने के लिए इस बूढी महिला ने पहले ही संकल्प कर लिया है। इसने ठान किया है कि राह में कितनी भी दिक्कत क्यों ना आ जाये, वह झुकेगी नहीं। दरअसल हमीरपुर जिले के सुमेरपुर थाना क्षेत्र चंद्पुरवा के रहने वाले प्रमोद की बेटी रेखा बीते 5 जून 2017 को अपने प्रेमी धर्मराज के साथ भाग गयी थी। दोनों ने 3 दिन बाद यानी 8 जून 2017 को इलाहबाद आर्य समाज मंदिर में शादी कर लिया था।

रेखा के परिवार वालों ने दर्ज करवा दिया अपहरण का मुकदमा:

आपकी जानकारी के लिए बता दें धर्मराज रेखा के भाई का दोस्त था और उसी के साथ ही दिल्ली में नौकरी भी करता था। हमीरपुर के मुस्करा थाना क्षेत्र का रहने वाला धर्मराज दो साल पहले अपने दोस्त के साथ उसके घर आया हुआ था। उसी दौरान उसकी मुलाकात अपने दोस्त की बहन रेखा से हुई थी। पहले दोनों में बातचीत हुई फिर यह बातचीत दोस्ती में बदली और फिर दोनों में प्यार हो गया। इसके बाद दोनों ने घर से भागकर आर्यसमाज मंदिर में शादी कर ली। इस शादी से धर्मराज के परिवार वालों को कोई ऐतराज नहीं था, लेकिन रेखा के परिवार वालों ने धर्मराज के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज करवा दिया।

माँ के पास रेखा को छोड़कर धर्मराज हो गया फरार:

रेखा के परिजनों ने अपनी तहरीर में लिखा कि रेखा अभी नाबालिग है। इसके बाद पुलिस धर्मराज की खोज में लग गयी। पुलिस से परेशान धर्मराज ने 23 जून 2017 को इलाहबाद हाईकोर्ट में अपनी शादी को क़ानूनी मान्यता देने के लिए अर्जी दी। इसके बाद कोर्ट ने रेखा के बालिग होने का प्रमाण माँगा। इसके बाद पुलिस ने धर्मराज को और परेशान करना शुरू कर दिया। इस वजह से धर्मराज ने रेखा को अपनी माँ के पास छोड़ दिया, और फरार हो गया। तब से बेटे और बहू को बचाने के लिए 70 साल की बूढी माँ कानून और समाज के गुस्से से बचाने के लिए ढाल बनकर खड़ी है।

अब रेखा और धर्मराज की शादी को मिल जाएगी क़ानूनी मान्यता:

कोर्ट का आदेश मिलने के बाद धर्मराज की विधवा माँ खुमनी देवी बहू का मेडिकल करवाने के लिए अस्पताल का चक्कर काट रही है। बाद में अधिकारीयों के हस्तक्षेप के बाद डॉक्टरों के पैनल ने रेखा का मेडिकल चेकअप किया। अब मेडिकल रिपोर्ट में रेखा के बालिग़ होने के प्रमाण मिले हैं। इसके बाद से खुमनी देवी ने रहत की सांस ली है। अब धर्मराज की बूढी माँ को आशा की किरण दिखने लगी है। अब धर्मराज और रेखा की शादी को क़ानूनी मान्यता मिल जाएगी।

आयु प्रमाणपत्र मिलने के बाद की जाएगी आगे की कार्यवाही:

आपको बता दें रेखा ने सुमेरपुर थाने में खुद जाकर यह बयान दिया था कि उसका कोई अपहरण नहीं हुआ है, बल्कि उसनें अपनी मर्जी से शादी किया है। रेखा के परिजन उसे घंटों घर चलने के लिए समझाते रहे, लेकिन उसने अपनी सास खुमनी देवी का साथ नहीं छोड़ा। अंत में हारकर पुलिस ने रेखा को उसकी सास खुमनी देवी के साथ जानें की इजाजत भी दे दी। जानकारी के अनुसार रेखा अभी आरोपी धर्मराज की माँ के साथ रह रही है। आयु प्रमाणपत्र मिलने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

Loading...

Check Also

सुषमा के इस फैसले पर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम दिया बड़ा बयान...

सुषमा के इस फैसले पर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम दिया बड़ा बयान…

भाजपा की वरिष्ठ नेता और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को 2019 लोकसभा चुनाव …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com