अगर पत्नी बिछिया पहनने में कर देती है ये एक गलती तो पति बन जायेगा रंक

- in जीवनशैली

शादीशुदा महिलाओं के लिए हिंदू धर्म में बहुत सी परम्पराएं हैं। इनमें से एक है पैरों में बिछिया पहनना। ऐसी मान्यता है कि बिछिया यदि सही ढंग से ना पहना जाए तो वह परेशानी का सबब भी बन सकता है।

अगर पत्नी बिछिया पहनने में कर देती है ये एक गलती तो पति बन जायेगा रंक

भारतीय ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बिछिया चन्द्रमा का प्रतीक है। इसलिए विवाहित महिलाओं को हमेशा चांदी का बिछिया पहनने की सलाह दी जाती है जिससे चन्द्रमा की कृपा प्राप्त हो सके।

 

पंडितों के अनुसार ‘बिछिया कभी भी पैर की अंगुली से खोना नहीं चाहिए साथ ही इन्हें किसी और को उतार कर नहीं देना चाहिए। ऐसा करने से आपके पति बीमार पड़ सकते हैं।आर्थिक स्थिति ख़राब हो सकती है और पति पर कर्ज चढ़ सकता है।

 

पंडितों की माने तो विवाहित महिलाओं को बिछिया दाहिने तथा बाएं पैर की दूसरी अंगुली में पहनना चाहिए। मान्यता है कि चांदी की पायल और बिछिया लक्ष्मी का वाहक होते हैं इसलिए इनका खोना शुभ संकेत नहीं होता। इसलिए इन्हें बड़ी सावधानी पूर्वक पहनना चाहिए।

जिनकी किस्मत में लिखा होता है कंगाली, उनको मिलती है ऐसी भाैहें और होंठो वाली पत्नी

 

ज्योतिष के अलावा मॉडर्न साइंस भी बिछिया पहनने से होने वाले लाभ के बारे में बताती है। औरतों की पैर की दूसरी अंगुली की तन्त्रिका का सीधा संबध गर्भाशय से होता है जो कि हृदय से होकर गुजरती है इसी कारण से दाहिने तथा बाएं पैर की दूसरी अंगुली में इन्हें पहनने की सलाह दी जाती है। जिससे गर्भाशय स्वस्थ और ब्लड प्रेशर नॉर्मल रह सके।

 

You may also like

खाली पेट भूलकर भी न खाएं यह 8 चीजें, वरना खुद पढ़ ले…

हमारा दिन कैसा रहेगा रहता है? हमारी शारीरिक