नई दिल्ली: श्रीलंका क्रिकेट टीम के कप्तान दिनेश चंडीमल, कोच चंडिका हथुरुसिंघा और प्रबंधक असंका गुरुसिन्हा ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) द्वारा उन पर लगाए गए आरोपों को स्वीकार कर लिया है. आईसीसी ने शुक्रवार को एक प्रेस विज्ञप्ति के जरिए इसकी जानकारी दी. चंडीमल, हथुरुसिंघा और असंका पर आईसीसी द्वारा खेल भावना को ठेस पहुंचाने वाले व्यवहार के लिए आईसीसी की आचार संहिता के अनुच्छेद 2.3.1 के उल्लंघन का आरोप लगाया है.ICC ने बॉल टेम्परिंग मामले में उठाया बड़ा कदम

आईसीसी आचार संहिता के अनुच्छेद 5.2 के अनुसार, इन तीनों द्वारा आरोप स्वीकार किए जाने के बाद आईसीसी ने माइकल बेलॉफ क्यूसी को मामले की सुनवाई के लिए न्यायिक आयुक्त के रूप में नियुक्त किया है. उल्लेखनीय है कि चंडीमल ने आईसीसी द्वारा उन पर लगाए एक टेस्ट मैच के प्रतिबंध के खिलाफ अपील की है और बेलॉफ इस अपील की सुनवाई करेंगे.

चंडीमल, कोच हथुरुसिंघा और असंका पर आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड रिचर्डसन ने आरोप लगाया था, क्योंकि वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल देरी से शुरू हुआ था, जिसमें तीनों शामिल थे.

गौरतलब है कि श्रीलंकाई टीम वेस्टइंडीज दौरे पर है, जहां 3 टेस्ट मैचों की सीरीज खेल रही है. इस सीरीज से पहले एक वॉर्मअप मैच खेला गया था, जो कि ड्रॉ रहा था. इस सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चंडीमल पर गेंद से छेड़छाड़ करने का आरोप लगा था, जिसके बाद आईसीसी ने जांच कमेटी गठित कर इस पर निर्णय लिया. बता दें कि इस सीरीज का पहला टेस्ट मैच त्रिनिदाद में खेला गया था, जिसे वेस्टइंडीज ने 226 रन से जीत लिया था. वहीं दूसरा टेस्ट मुकाबला ड्रॉ रहा था. यह मैच 14 जून से 18 जून तक खेला गया था. इस सीरीज का आखिरी मैच 23 जून से 27 जून तक खेला जायेगा.