उत्तराखंड में महिला जिला पंचायत सदस्य की जगह पति ने ली शपथ

हरिद्वार: सरकार के तमाम दावों के बावजूद महिलाएं पति की छाया से बाहर नहीं निकल पा रही हैं। सोमवार को तो हद उस समय हो गई जब निर्वाचित सदस्यों के शपथ ग्रहण समारोह में महिला जिला पंचायत सदस्य की बजाए उसके पति ने ही शपथ ले ली। शपथ दिलाने वाले अधिकारी और चेयरमैन भी यह सब रोकने की बजाए पति को सहयोग करते हुए नजर आए।उत्तराखंड में महिला जिला पंचायत सदस्य की जगह पति ने ली शपथ

जिला पंचायत सदस्य की खाली हुई मानकपुर आदमपुर सीट एवं जमालपुर कलां पर 19 जून को मतदान और 22 जून को मतगणना हुई थी। जमालपुर कलां में शशि और मानकपुर आदमपुर सीट से सुभाष वर्मा निर्वाचित हुए थे। सोमवार को जिला पंचायत कार्यालय में दोनों नए निर्वाचित सदस्यों का शपथ ग्रहण समारोह था, लेकिन शपथ ग्रहण समारोह में उस समय अजीबों-गरीबों वाकया देखने को मिला, जब जमालपुर से निर्वाचित सदस्य शशि के पति प्रमिल न केवल उनके साथ कार्यक्रम में पहुंचे, बल्कि शपथ ग्रहण समारोह में पत्नी के बराबर में शपथ पत्र लेकर खड़े हो गए। 

इसके बाद जो हुआ वह शायद हरिद्वार जिला पंचायत के इतिहास में पहली बार हुआ होगा, क्योंकि जिला पंचायत सदस्य के पति ने ही शपथ ले ली। जिला पंचायत अध्यक्ष सविता चौधरी निर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाती रहीं और शशि की बजाए उनके पति शपथ लेते रहे। यह सब नजारा अपर मुख्य अधिकारी राजीव कुमार नाथ त्रिपाठी भी न केवल देखते रहे, बल्कि शपथ दिलाने में पति को सहयोग करते रहे। 

राजीव कुमार नाथ त्रिपाठी (अपर मुख्य अधिकारी, जिपं हरिद्वार) का कहना है कि निर्वाचित महिला कम पढ़ी-लिखी होंगी, इसके कारण वह ठीक ढंग से शपथ लेने के दौरान बोल नहीं सकी। इसलिए उनके पति ने सहयोग किया, लेकिन उनके पति ने शपथ नहीं ली। अगर फिर भी ऐसा है तो शपथ ग्रहण समारोह की रिकॉर्डिंग की जांच की जाएगी। रिकॉर्डिंग की जांच के बाद ही जो जरूरी होगा वह किया जाएगा। दीपक रावत (जिलाधिकारी, हरिद्वार) का कहना है कि जिला पंचायत सदस्य की बजाए अगर उसके पति ने शपथ ग्रहण की है तो मामले की जांच की जाएगी। अगर जांच के बाद मामला सही पाया गया तो संबंधित दोषी अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के