एचएसएससी चेयरमैन बोले- नौकरी लगे 24 हजार कर्मचारियों में से कोई कहे लेनदेन हुआ तो मानें

- in राज्य, हरियाणा

हरियाणा में सरकारी नौकरियों का सौदा करने वाले रैकेट के पकड़े जाने के बाद कर्मचारी चयन आयोग (एचएसएससी) से लेकर राजनीतिक गलियारों में हर जगह लाखों रुपये लेकर नौकरियां बेचे जाने की ही चर्चाएं हैैं। सीएम फ्लाइंग की छापेमारी, आउटसोर्स पर काम करने वाले जूनियर कर्मचारियों की धरपकड़ और अब तक हुई भर्ती की विश्वसनीयता को लेकर दैनिक जागरण के स्टेट ब्यूरो प्रमुख अनुराग अग्रवाल ने हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भारत भूषण भारती से बात की। पेश है प्रमुख अंशः

प्रश्न: कर्मचारी चयन आयोग में वर्षों से नौकरियां बेचने का खेल चल रहा। क्या सीएम फ्लाइंग की छापेमारी की आपको जानकारी थी?

उत्तर: मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व वाली सरकार पहले दिन से पारदर्शिता और मेरिट को आधार बनाकर नौकरियां देने की पक्षधर रही है। आयोग ने इसी रीति-नीति पर काम किया और आगे बढ़े। सरकार को जरूर कुछ सूचनाएं मिली होंगी। सुधार के लिए जो किया जाना चाहिए, वह किया गया। सीएम फ्लाइंग की छापेमारी की हमें कोई जानकारी नहीं थी।

उत्तर: भर्ती प्रक्रिया सुचारु रूप से जारी है। सीएम फ्लाइंग अपना काम कर रही है और आयोग अपना काम। फिलहाल 14 हजार नई भर्तियों की प्रक्रिया जारी है। इस पर कोई विपरीत असर नहीं पडऩे वाला है। सभी परीक्षाएं और कार्यक्रम पूर्व निर्धारित हैैं।

प्रश्न: हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग में इतनी गिरफ्तारियां होने से पूर्व में हो चुकी 24 हजार भर्तियों की निष्पक्षता पर भी सवाल खड़े हो रहे? लग रहा कि यह भर्तियां पैसे देकर हुई?

 
 

You may also like

यूपी के 6 राज्यों में पेट्रोल-डीजल हो सकता है सस्ता, समान वैट पर जताई सहमति

पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले वैट की