26 जनवरी को हिन्दुस्तान दहलाने की थी कोशिश, ऐसे हुआ आतंकी हमले की साजिश का खुलासा

- in Mainslide, राष्ट्रीय

एक तरफ जहां देश भर में गणतंत्र दिवस की तैयारियां चल रही हैं, वहीं दूसरी तरफ आतंकी गणतंत्र दिवस में देश को दहलाने की साजिश कर रहे हैं। कश्मीर में सेना आतंकियों का सफाया कर रहे हैं। वहीं आतंक का साया दिल्ली समेत कई शहरों को दहलाने की तैयारी कर रहे हैं। बुधवार रात को मुंबई के मेट्रो की निर्माणाधीन लाइन के पास जहां विस्फोटक बरामद हुआ है। वहीं दिल्ली एयरपोर्ट से लाल किला हमले का आरोपी आतंकी बिलाल अहमद काहवा को एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है।

26 जनवरी को हिन्दुस्तान को दहलाने की कोशिश, ऐसे हुआ आतंकी हमले की साजिश का खुलासाबिलाल अहमद

बिलाल अहमद पर आरोप है कि उसने लाल किले पर 22 दिसंबर 2000 को हमला कराने में मुख्य भूमिका निभाई थी।  इस हमले में आर्मी के तीन लोग मारे गए थे। इस सिलसिले में पुलिस ने मामला दर्ज किया था। ट्रायल के दौरान कोर्ट ने 11 आरोपियों को दोषी करार दिया था। वहीं अलीगढ़ के एएमयू से गायब पीएचडी के छात्र मन्नान वानी के आतंकी बनने की ख़बर ने देश की सुरक्षा एजेंसियों की नींद उडा दी है।

मन्नान वाणी

हाथ में एके-47 लिए ये जो शख्स आपको दिखाई दे रहा है। ये विश्व विख्यात अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का छात्र है। इसका नाम मन्नान वाणी नाम का ये छात्र एएमयू से पीएचडी कर रहा था, लेकिन अब इसको लेकर एक सनसनी खेज खुलासा हुआ है। ये हिजबुल का आतंकी है। इसने आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन को ज्वाइंन कर लिया है। इस खुलासे के बाद पूरे एएमयू में हड़कंप मच गया है। जांच एंजेसियां इस खुलासे के बाद जांच में जुट गई है। सुरक्षा एजेंसियों ने यूनिवर्सिटी कैंपस में छानबीन की है। साथ ही वानी के हॉस्टल रूम की जांच की तो पता चला की मन्नान 2 जनवरी तक हॉस्टल में ही था। लेकिन बाद में कहा गया इसकी किसी को कोई खबर नहीं है वहीं सुरक्षा एजेंसियां इस मसले पर नज़र बनाए हुए हैं। इस बात का खुलासा तब हुआ जब सोशल मीडिया में उसकी तस्वीर एके -47 के साथ वायरल हुई। वहीं दूसरी तरफ मन्नान के दोस्त इसे फोटोशॉप बताकर एएमयू को बदनाम करने की साजिश बता रहे हैं।

मन्नन वानी कुपवाड़ा जिले के लोलाब का रहने वाला है, और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में जियोलॉजी में पीएचडी कर रहा था, और पिछले पांच साल से एएमयू में रह रहा था, वहां उसने एमफिल की डिग्री भी ली। रविवार को ही वानी के परिवार की तरफ से गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी। जिसके बाद पुलिस ने तलाश शुरू की। जिसमें उसकी आखिरी लोकेशन दिल्ली पता चल पाई है। जिसके बाद आशंका जताई जा रही है कि दिल्ली में कहीं ये आतंकी छिपा हो सकता है।

वहीं दूसरी तरफ हिजबुल मुजाहिद्दीन के प्रवक्ता ने इसबात की पुष्टि की है। कि मन्नान हिजबुल का आतंकी बन गया है, साथ ही एएमयू के कई स्कॉलर हिजबुल मुजाहिद्दीन को ज्वाइंन करने का मन बना रहे हैं।

इससे पहले कश्मीर के ही एक कॉलेज छात्र और फुटबॉल खिलाड़ी माजिद अरशिद खान ने भी इसी तरह आतंकी संगठन ज्वाइन कर लिया था। माजिद खूंखार आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के साथ जुड़ा था, हालांकि, अपनी मां की अपील के बाद माजिद ने आतंकी संगठन को छोड़ दिया और घर वापसी आ गया था।

You may also like

सड़क पर चलना हो जाएगा महंगा, पेट्रोल के बाद 14% तक चढ़ सकते हैं CNG के दाम!

सड़क पर चलने वालों के लिए बुरी खबर है.