AI बेस्ड गूगल ऐसिस्टेंट में जुड़ा हिंदी सपोर्ट, अब ऐसें पायें अपने हर सवाल का जवाब

- in गैजेट

गूगल का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड पर्सनल ऐसिस्टेंट Google Assistant अब हिंदी में उपलब्ध है. अमेरिकी टेक्नॉलॉजी दिग्गज गूगल ने इसे अब हिंदी लैंग्वेज में लॉन्च कर दिया है. यानी अब आप गूगल ऐसिस्टेंट से हिंदी में सवाल पूछ सकते हैं और इसका जवाब भी आपको हिंदी में दिया जाएगा.

AI बेस्ड गूगल ऐसिस्टेंट में जुड़ा हिंदी सपोर्ट, अब ऐसें पायें अपने हर सवाल का जवाबइससे पहले तक AI बेस्ड पर्सनल वर्चुअल ऐसिस्टेंट की दिक्कत थी की इसे यूज करने के लिए आपको इंग्लिश में सवाल पूछने होते थे और इसके जवाब भी इंग्लिश में ही दिए जाते थे. Google Assistant को हिंदी में यूज करने के लिए आपको अलग से कोई ऐप डाउनलोड नहीं करना होगा, बल्कि ऐसिस्टेंट में ही इसका ऑप्शन दिया जाएगा.

गूगल ऐसिस्टेंट में हिंदी का सपोर्ट एंड्रॉयड 6.0 मार्शमैलो और उसके ऊपर के वर्जन में दियाजा रहा है. गूगल ऐसिस्टेंट को हिंदी में इस्तेमाल करने के लिए आपको अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन के होम बटन को लॉन्ग प्रेस करना है. इसके बाद आपको सेटिंग्स में जा कर लैंग्वेज हिंदी सेलेक्ट करना है. अब आप हिंदी में सवाल पूछ सकते हैं. उहाहरण के तौर पर आप ये पूछ सकते हैं कि भारत के प्रधानमंत्री कौन हैं या आज का मैसम कैसा है. आपको जवाब भी हिंदी में मिलेगा.

गौरतलब है कि वॉयस ऐसिस्टेंट के लिए दिया जाने वाला हिंदी लैंग्वेज का सपोर्ट  मैसेज भेजने का काम भी करेगा. यानी हिंदी में बोलकर किसी को टेक्स्ट मैसेज भी भेज सकते हैं. उदाहरण के तौर पर आप बोल सकते हैं, ‘XYZ को एसएमएस भेजो’. आप यह भी पूछ सकते हैं, ‘यहां पास में कौन सा रेस्ट्रों है या फिर ऑफिस तक पहुंचने में कितना समय लगेगा’

दिलचस्प ये है कि आप अलार्म भी हिंदी में बोलकर सेट कर सकते हैं. अगर आपको शाम में 7 बजे के लिए अलार्म लगाना है तो आप गूगल ऐसिस्टेंट को बोल सकते हैं, ‘शाम के 7 बजे का अलार्म सेट करें’. ठीक ऐसे ही सेल्फी क्लिक करने के लिए आप कह सकते हैं, ‘मेरी सेल्फी खींचो’. इसके अलावा इंग्लिश में आप पहले जितने कमांड देते थे अब आप कमोबेश उतने ही हिंदी में भी दे सकते हैं.

गौरतलब है कि गूगल भारत में यहां के रिमोट एरिया में अपनी पहुंच बनाने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है. हाल ही में गूगल ने दिल्ली में आयोजित एक इवेंट में कहा कि अब गूगल मैप्स वॉयस नेविगेशन में छह भारतीय भाषाओं को जोड़ा गया है. इसके अलावा कंपनी ने प्लस कोड की भी शुरुआत की है जो भारत के हिसाब से काफी फायदेमंद है. इतना ही नहीं गूगल ने भारतीय मार्केट और यहां के यूजर्स को टार्गेट करके नए प्रोडक्ट्स भी लॉन्च किए हैं जिनमें गूगल मैप्स पर बाइक मोड शामिल है.

You may also like

अब NAMO एप से खरीद सकेंगे टी-शर्ट, नोटबुक, टोपी और मग जैसी चीजें…

2019 का चुनाव सिर पर है और इससे