नवरुणा हत्याकांड के आरोपितों को CBI रिमांड पर लेने पर हुई सुनवाई, कल होगा फैसला

- in बिहार, राज्य

मुजफ्फरपुर। नवरुणा हत्याकांड में सभी छह आरोपितों को पूछताछ के लिए पांच दिनों के रिमांड पर सौंपने की सीबीआइ की अर्जी पर सीबीआइ के विशेष न्यायालय के प्रभारी पीठासीन अधिकारी सह एसीजेएम राजीव रंजन सिंह के कोर्ट में सुनवाई हुई। आरोपितों की ओर से उनके अधिवक्ताओं ने इसका विरोध किया। जबकि सीबीआइ की ओर से उसके विशेष लोक अभियोजक ने सभी को पूछताछ के लिए रिमांड पर देने का समर्थन किया। सीबीआइ पूरी तैयारी कर कोर्ट पहुंची थी। इसके लिए सीबीआइ ट्राली बैग में साक्ष्य से संबंधित कागजात कोर्ट में लेकर आइ थी।नवरुणा हत्याकांड के आरोपितों को CBI रिमांड पर लेने पर हुई सुनवाई, कल होगा फैसला

एक आरोपित विक्रांत शुक्ला उर्फ विक्कू शुक्ला की ओर कोर्ट में जमानत की अर्जी भी दाखिल की गई। रिमांड व जमानत की अर्जी पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने आदेश सुरक्षित रखा है। यह आदेश शनिवार को आएगा। अब सभी की निगाहें सीबीआइ कोर्ट पर टिकी हैं। रिमांड पर लिए जाने वालों में शाह आलम शब्बू, ब्रजेश सिंह, विक्रांत शुक्ला उर्फ विक्की शुक्ला, विमल अग्रवाल उर्फ बंटी, अभय गुप्ता व राकेश कुमार शामिल हैं।

बाहुबलियों की इस जमात से सीबीआइ जोड़ रही कडिय़ां

पांच दिनों के रिमांड पर लेने के लिए विशेष कोर्ट में सीबीआइ ने जो तर्क पेश किया है। उसमें सभी को बाहुबली बताया गया है। इन्होंने शहर की कई जमीन पर कब्जा जमा रखा है। नवरुणा का अपहरण व हत्या भी उसके पिता की जमीन खरीदने को लेकर ही की गई। इस घटना में इनकी संदिग्ध भूमिका सामने आई है। सबसे बड़ी बात यह है कि इन सभी के तार आपस में जुड़े हैं। सीबीआइ इनसे घटना की कडिय़ां जोड़ रही है।

डे-टू-डे बेसिस पर मामले की चल रही जांच

चार साल की जांच में बहुत कुछ हासिल नहीं कर पाने को लेकर फजीहत झेल रही सीबीआइ अब इस केस में डे-टू-डे बेसिस पर कार्रवाई कर रही है। हर दिन इस केस की प्रगति की सीनियर ऑफिसर मॉनीटरिंग कर रहे हैं। कोशिश की जा रही है कि सुप्रीम कोर्ट की डेडलाइन 15 सितंबर से पहले इस मामले को पूरी तरह सुलझा लिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तराखंड में सियासी घमासान के बीच CM बहुगुणा पहुँचे शहजाद के घर

रुड़की: पिछले दिनों से मचे सियासी घमासान के