क्या आपने अपनी पूरी जिन्दगी में देखा है 4500 साल पुराना घर

- in ज़रा-हटके

ज़रा सोचिये अगर आपको कोई कहे की ये घर एक दो साल नहीं बल्कि कई हज़ारों साल पुराना है तो आप क्या सोचेंगे. एक मिनट के लिए आपको इस बात पर विश्वास ही नहीं होगा, आपको लगेगा की क्या मज़ाक चल रहा है. लेकिन असल में ऐसा है. असल में ऐसी बहुत सी चीज़ें हैं जो इस दुनिया में खोज करने के बाद मिल रही हैं.क्या आपने अपनी पूरी जिन्दगी में देखा है 4500 साल पुराना घर

ऐसे अजब-गज़ब लोग और चीज़ें इस दुनिया में हैं कि सुनते ही कान खड़े हो जाते हैं. अक्सर हम इन बातों पर विश्वास नहीं कर पाते. कुछ  ऐसा ही उदाहरण पाया गया है. ये खोज, सबसे पुराना घर, हमारे देश की नहीं बल्कि विदेश की है. ये बात है मिश्र की. जी हाँ जहाँ के पिरामिड दुनिया के आश्चर्य में से एक हैं. मिस्र में गीजा के पिरामिड के पास अमेरिका की रिसर्च टीम ने 4500 साल पुराने दो घरों को खोजा है. बताया जा रहा है कि इन घरों का इस्तेमाल उस वक्त सेना के लिए खाना बनाने के लिए होता होगा.

ज़रा सोचिए उस समय भी सेना की व्यवस्था कितनी लाजवाब होती रही है. आज भी लोगों को सुनकर आश्चर्य हो रहा है. इतने साल पुराना घर मिल जाए तो लोगों के होश ही उड़ जाएंगे. अक्सर ही खोज होते रहते हैं. यहां पर पहले भी पुरातत्‍वविदों ने कई आवासों की खोज की थी. जिसमें एक 21 कमरे का मकान भी शामिल था. जिनका इस्‍तेमाल पोर्ट में काम करने वाले कर्मचारियों द्वारा किया जाता था. इस खोज ने दुनिया को बता दिया है कि सिर्फ आज ही अच्छे मकान नहीं बनते, बल्कि उस समय भी लोग घरों में रहा करते थे.

पुरातत्व विभाग हमेशा ही खोज करते रहते हैं. ब्रिटिश कोलंबिया में दूरदराज के एक आइलैंड पर खुदाई में हजारों साल पुराना एक गांव खोजा गया है। उत्तरी अमेरिका में यह अब तक की सबसे पुरानी मानव सभ्यता के निशान माने जा रहे हैं। अनुमान के मुताबिक यह गांव 14,000 साल पुराना है। कनाडा के विक्टोरिया शहर से 500 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में ट्रिकेट आइलैंड पर यह गांव मिला है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि कई बार इस तरह की खोज होती रहती है. जिस तरह से वैज्ञानिक नई खोज करते हैं उस तरह से पुरातत्व विभाग के लोग ज़मीन के भीतर खुदाई करके इस तरह की धरोहर का पता लगाते हैं. ये असल में किसी भी देश के लिए बहुत ही बढ़िया चीज़ होती है.

इस तरह से जब भी कुछ नई चीज़ का पता चलता है तो इससे सिर्फ उस देश को नहीं बल्कि पूरी दुनिया का भला होता है. असल में आने वाली पीढ़ी को इस बारे में पता चलता है कि जो भी वो अब किताबों में पढ़ते आए हैं उनका अवशेष भी मिलता है. वो सिर्फ यूँ ही किताबों में नहीं लिख दिया गया है. उन सब का इतिहास है तो उनका अवशेष भी है. बस ज़रुरत होती है उनका अस्तित्व में आना. तो अब आपको बात समझ में आएगी बात कि केवल अब से नहीं बल्कि कई हज़ारों साल से घर बनाने की प्रथा रही है. हर तरह के घर में लोग रहते थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

दोस्तों के सामने दुल्हन ने रख दी ऐसी शर्त, रह गए दंग!

अपने दोस्त की शादी के लिए हर कोई