ज्यादा सेक्स करना मजा हैं या सजा, जानने के बाद आप भी…

अति सर्वत्रा वर्जयते (Access of Everything is Bad) इसका मतलब यहां अधिक सेक्स करने से है जिसे अंग्रेजी में सेक्स एडिक्शन और हिन्दी में कामुकता भी कहा जाता है। हम अपने इस लेख के द्वारा कामुकता के कुछ बिन्दुओं पर केन्द्रित करेगें।

  1. क्या है कामुकता

  2. कामुकता के प्रकार

  3. कामुकता के कारण

  4. कामुकता के लक्षण

  5. कामुकता के मानसिक और शारीरिक प्रभाव

  6. कामुकता के बारे में आत्म-मूल्यांकल

  7. कामुकता से छुटकारा पाने के उपाय

1. क्या है कामुकता (सेक्स एडिक्शन)?

कामुकता का मतलब नकारात्मक परिणामों की परवाह किए बिना सेक्सुअल गतिविध्यिों या संभोग में ज्यादा रूचि का होना। कामुकता का यह मुद्दा व्यक्तियों, दम्पतियों, परिवारों, दोस्तों की जिन्दगियों और सम्बन्धें को प्रभावित कर रहा है।

2. कामुकता के प्रकार

कामुकता को कई प्रकार से समझा जा सकता है जैसे हस्तमैथुन, इंटरनेट पोर्न फोटोज या मूवीज और कामोत्तेजक पुस्तको या आजकल बाजार में उपलब्ध् सेक्स टॉयज जैसे कार्यकलापों में शामिल होना होता है।

3. कामुकता के कारण

उपरोक्त लिखित कामुक गतिविधियां व्यक्ति के विभिन्न भागों को प्रभावित करते हैं। जैसे

जैविक (Biological)

  • जीन्स (आनुवंशिक-आनुवंशिक गड़बड़ी के कारण व्यक्ति की व्यवहारिक रूप से सेक्स में रूचि सामान्य से ज्यादा होती है।

  • हार्मोन्स – शरीर में कुछ हार्मोन के अधिक होने के कारण भी व्यक्ति कामुक व्यवहार करने लगता है। इनमें से कुछ हार्मोन्स जैसे टेस्टोस्टेरोन या एस्ट्रोजन कामेच्छा को प्रभावित कर सकते हैं।

शारीरिक (Physical)

  • वातावरण का प्रभाव – अगर व्यक्ति के रहने का माहोल इस तरह का हो जिसमें वे गाली-गलोच, वेश्यावृति या आपराधिक गतिविधियों में लिप्त होते हैं वहां भी कामुकता जैसी लत का पड़ना स्वाभाविक होता है।

  • मानसिक अव्यवस्था – व्यक्ति के मानसिक रूप से अव्यवस्थित होने के कारण वह सामान्य लोगों में असुरक्षा महसूस करता है और अकेला रहने का प्रयास करता है जिस कारण वह हस्तमैथुन या पोर्न गतिविधियों में लिप्त होने लगता है।

सामाजिक (Social)

  • सामाजिक बहिष्कार – जब किसी व्यक्ति का समाज से बहिष्कार किया जाता है तो वह अपनी कामेच्छा पूर्ति के लिए पोर्न फिल्मे देखना या हस्तमैथुन जैसी लत का शिकार हो जाता है।

  • सामाजिक शिक्षा – आज का समाज शिक्षित होने के साथ-साथ पश्चिम देशों की संस्कृति का भी अनुसरण कर रहा है जिसमें न्यूड फैशन प्रोगाम, बिकनी का चलन या शार्ट कपड़ों का पहनना इन सब के प्रभाव से कुछ व्यक्ति कामुकता के शिकार हो जाते हैं।

4. कामुकता के लक्षण

कामुकता के शारीरिक व मानसिक लक्षण हो सकते हैं। इसका मुख्य लक्षण यह होता है व्यक्ति बिना किसी बिमारी के कमजोर और मुरझाया हुआ सा लगने लगता है।

  • मानसिक लक्षण – इसमें प्रभावित व्यक्ति अलग-थलग, उदास, गुस्सा या अपने आपको अपमानित समझने लगता है।

  • शारीरिक लक्षण – प्रभावित व्यक्ति का दुर्बल प्रतीत होना या उसके काम करने की शक्ति कमजोर पड़ना आदि लक्षण देखने को मिलते हैं। ऐसे में व्यक्ति से बात करके उसे उपचार के लिए ले जाना चाहिए।

5. कामुकता के मानसिक और शारीरिक प्रभाव

कामुकता के व्यक्ति पर मानसिक और शारीरिक प्रभाव पड़ते हैं।

  • लोगों पर किए गए एक सर्वे के अनुसार लगभग 37 प्रतिशत पुरूष ओर लगभग 44 प्रतिशत महिलाएं प्रभावित पाए गए।

  • प्रेग्नेंसी पर इसका सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ता है जैसे अनचाहे गर्भ को गिराना।

  • अपरिचित विपरीत लिंगो से सेक्स के कारण ऐडस् जैसी बिमारियों का खतरा ज्यादा होता है।

  • कुछ परिस्थितियों में परिवार या समाज से निकाले गए व्यक्ति पर इसका गहरा असर पड़ता है और वह आत्महत्या का निर्णय तक ले लेता है।

    फेयरनेस क्रीम नहीं बल्कि बेकिंग सोडा से पाएं गोरा रंग

6. कामुकता के बारे में आत्म-मूल्यांकल या उपचार

कामुकता एक प्रकार की बिमारी ही होती है जिसमें प्रभावित व्यक्ति शारीरिक वह मानसिक रूप से संतुलित नही रहता। इसलिए सबसे पहले आत्ममूल्यांकन करना चाहिए

7. कामुकता से छुटकारा पाने के  उपाय 

इस बिमारी से बचने के लिए व्यक्ति को कुछ बिन्दुओं पर अपना ध्यान् केन्द्रित करना चाहिएः

  • प्रतिदिन सुबह 15-30 मिनटों के लिए योगा करना चाहिए।

  • समय मिलने पर अच्छी पुस्तकें पढ़नी चाहिए।

  • घर या कार्यस्थल पर अच्छा वातावरण रखें और कामुक वस्तुओं को देखने पर भी उसे नजरअन्दाज करें।

  • सेक्स से सम्बंधित जानकारियां जुटाने के लिए जहां तक हो सके इंटरनेट पर विजिट न करके अपने किसी दोस्त या परिवार के सदस्य से बातचीत करें क्योंकि आजकल इंटरनेट पर जानकारी के नाम पर पोर्न फोटो वह विडियो की भरमार होती है।

  • सेक्स एडिक्सन होने पर किसी चिकित्सक (डॉक्टर) से सलाह ले सकते हैं।

  • शराब या नशे से संबध्ति किसी प्रकार की लत से बचने का प्रयास करते रहें।

Loading...

Check Also

आखिर सेक्स के वक्त महिलाओं को होता है इस तरह का अहसास, मर्दों को नहीं है इस बात की खबर

अब तक कहा जाता था कि वह प्यार पाने के लिए, पैशन के लिए सेक्स …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com