हरियाणा ने ब्रिटिश निवेशकों के लिए खोले नए द्वार, हुए छह एमओयू

चंडीगढ़। हरियाणा ने ब्रिटिश निवेशकों के लिए निवेश के नए द्वार खोल दिए हैं। लंदन में मुख्यमंत्री मनोहर लाल की मौजूदगी में विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग के लिए विदेशी कंपनियों के साथ छह समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। इनमें स्मार्ट टेक्नोलॉजी इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देने के लिए एयरोस्पेस और रक्षा कंपनियों, ट्रैकिंग सिस्टम के लिए मानव रहित विमान प्रणाली, तेजी से चार्ज करने वाले ऊर्जा भंडारण उपकरणों का निर्माण शामिल है। इसके अलावा सेवा क्षेत्र और गुरुग्राम में आइओटी नवाचार केंद्र बनाने सहित ऐसी परियोजनाओं में हार्डवेयर व सॉफ्टवेयर टूल्स का आदान-प्रदान किया जाएगा।हरियाणा ने ब्रिटिश निवेशकों के लिए खोले नए द्वार, हुए छह एमओयू

मुख्यमंत्री ने हरियाणा में निवेश की संभावनाएं दिखाते हुए तमाम शंकाओं को किया दूर

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने लंदन में यूके इंडिया बिजनेस काउंसिल द्वारा निवेशकों के साथ आयोजित इंटरेक्टिव सत्र में विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की व्यापक संभावनाओं को दर्शाते हुए हरियाणा में निवेश का न्योता दिया। साथ ही विदेशी निवेशकों की सभी शंकाओं का समाधान भी किया। इंडो-यूरोपियन बिजनेस फोरम की बैठक में लॉर्ड करण बिलिमोरिया और लॉर्ड राज लूंबा सहित 100 से अधिक उद्योगपतियों ने भाग लिया।

मुख्यमंत्री ने ईज आफ डूईंग बिजनेस, स्टार्ट-अप्स, लघु एवं सूक्ष्म उद्योग और विमानन हब संबंधी परियोजनाओं पर विदेशी निवेशकों के तमाम सवालों के जवाब दिए। इस दौरान हरियाणा राज्य औद्योगिक अवसंरचना विकास निगम (एचएसआइआइडीसी) के प्रबंध निदेशक टीएल सत्यप्रकाश ने हरियाणा में निवेश अवसरों पर विस्तृत प्रस्तुति दी।

यूके की तर्ज पर डेवलप होगा ट्रांसपोर्ट सिस्टम

हरियाणा के प्रतिनिधिमंडल ने लंदन में परिवहन प्रणाली पर भी एक बैठक की। हरियाणा में परिवहन सेवाओं को दुरुस्त करने और गुरुग्राम जैसे बढ़ते शहरों में सफल सिटी ट्रांसपोर्ट सिस्टम लागू करने पर लंबा मंथन हुआ। बातचीत के दौरान बिग डाटा टेक्नोलॉजी, ऊर्जा दक्षता, 3डी प्रिंटिंग, एग्रो/फूड प्रोसेसिंग, पर्यटन क्षेत्र में हरियाणा में अवसरों पर चर्चा हुई। प्रतिभागियों को भरोसा दिलाया गया कि एचएसआइआइडीसी हरियाणा में उद्यम स्थापित करने के इच्छुक एसएमई के साथ मिलकर कार्य करेगा।

स्वास्थ्य क्षेत्र में निवेश को तैयार विदेशी कंपनियां

लंदन में मुख्यमंत्री के इंडो-यूके इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के साथ बैठक में हरियाणा के मल्टी-सुपर स्पेशियलिटी तृतीयक देखभाल अस्पतालों की स्थापना और अन्य सेवाओं में रुचि रखने वाले निवेशकों ने भाग लिया। परियोजनाओं के स्थलों के विकल्पों पर चर्चा के बाद निर्णय लिया गया कि फाइनल साइट पर एचएसआइआइडीसी के साथ जून के अंत में चर्चा कर निर्णय लिया जाएगा। बाद में मुख्यमंत्री ने हाउस ऑफ लॉड्र्स में आयोजित रात्रिभोज में भाग लिया।

=>
=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सरकारी बंगला बचाने के लिए मायावती ने चली नई चाल, किया ये काम

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने माल