खुले में नमाज पर हरियाणा सरकार का कड़ा रुख, कहा- ईदगाह व मस्जिदों का ही करें इस्तेमाल

- in हरियाणा

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम में खुले में नमाज पढ़ने को लेकर उपजे विवाद के बाद हरियाणा सरकार ने बड़ा बयान दिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विदेश दौरे पर जाने से पहले दो टूक कह दिया कि नमाज पढ़ने के लिए निर्धारित स्थानों पर ही नमाज पढ़ी जानी चाहिए। सार्वजनिक स्थान इस कार्य के लिए निर्धारित नहीं होते। फिर भी कानून व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने के लिए सरकार हरसंभव प्रयास करेगी।खुले में नमाज पर हरियाणा सरकार का कड़ा रुख, कहा- ईदगाह व मस्जिदों का ही करें इस्तेमाल

चंडीगढ़ में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि नमाज पढ़ने के लिए मस्जिद और ईदगाह होते हैं। इसके अलावा अपने निजी स्थान अथवा घर पर नमाज पढ़ी जा सकती है, लेकिन सार्वजनिक स्थानों पर नमाज पढ़कर प्रदर्शन करना उचित नहीं है।

इस तरह की घटनाओं में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, जिसे गंभीरता से लिए जाने की जरूरत है। इसके बावजूद भी यदि नमान पढऩे के लिए निर्धारित स्थान कम पड़ते हैं तो संबंधित संस्थाओं के माध्यम से इनका निर्माण कराया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की कानून व्यवस्था पर पूरी तरह से निगाह है और स्थिति को किसी सूरत में नहीं बिगड़ने दिया जाएगा।

21 जून को व्यायामशालाओं में होंगे योग कार्यक्रम

हरियाणा में 21 जून को एक हजार व्यायामशालाओं में एक साथ योग के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्पष्ट किया कि पांच मई को अपने जन्मदिन पर उन्होंने 309 व्यायामशालाओं की शुरूआत कर दी है।

राज्य में दो एकड़ जमीन में करीब एक हजार व्यायामशालाएं बनाने का प्रस्ताव है। इनमें से 750 के लिए बजट अलाट हो चुका है। 309 व्यायामशालाओं ने काम करना शुरू कर दिया है। बाकी व्यायामशालाओं का काम 21 जून तक पूरा हो जाएगा। इसी दिन सभी में योग के कार्यक्रम कराए जाएंगे।

 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

हरियाणा के गोबर गैस प्लांट सफाई कर रहे परिवार के चार सदस्यों की हुई मौत

कुरुक्षेत्र। यहां के नजदीकी अमीन गांव के पास