कल से शुरू होंगी हरियाणा बोर्ड की परीक्षाएं, सवा आठ लाख बच्चे देंगे परीक्षा

- in राज्य, हरियाणा

भिवानी। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की दसवीं और 12वीं की परीक्षाएं 7 मार्च से शुरू होंगी। पेपर लीक की घटनाओं के कारण शिक्षा बोर्ड के लिए ये परीक्षाएं एक बड़ी चुनौती होगी। बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि परीक्षाओं के सफल संचालन और इसे नकल रहित बनाने के लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। लेकिन, अभी नौवीं और 11वीं की परीक्षाअों में पेपर लीक होने से बोर्ड के दावे पर सवाल उठ रहे हैं।

बोर्ड ने दसवीं और 12वीं की परीक्षाअों के लिए 1755 परीक्षा केंद्र बनाए हैं और 312 उड़नदस्तों का गठन किया है। सभी उड़नदस्तों में एक महिला सदस्य भी शामिल है।

1755 परीक्षा केंद्रों पर 312 उडऩदस्ते रखेंगे नजर

बोर्ड अध्यक्ष डा. जगबीर सिंह एवं सचिव धीरेंद्र खडगटा ने बताया कि नकल रोकने के लिए एक कमरे में 24 परीक्षार्थी बैठाने का निर्णय किया गया है। पूर्व में आयोजित परीक्षाओं में 32 परीक्षार्थी बैठते थे। 100 फीसद हाजिरी सुनिश्चित करने का भी आग्रह किया गया है।

 

बोर्ड अधिकारियों के अनुसार, 10वीं में 383499 परीक्षार्थी व 12वीं के 246462 परीक्षार्थी और ओपन स्कूल के 10वीं के 118193 परीक्षार्थी व 12वीं के 77586 परीक्षार्थी प्रविष्ट होंगे। 10वीं शैक्षिक के 3,70,101 परीक्षार्थी, जिनमें से 1,69,253 छात्राएं व 2,00,848 छात्र शामिल है। 10वीं रि-अपीयर के 13,398 परीक्षार्थी, जिनमें से 5,313 छात्राएं व 8,085 छात्र परीक्षा में बैठेंगे। 12वीं शैक्षिक के 2,25,933 परीक्षार्थी, जिनमें से 99,118 छात्राएं व 1,26,815 छात्र परीक्षा देंगे। 12वीं (रि-अपीयर) के 20,529 परीक्षार्थी, जिनमें से 6,376 छात्राएं और 14,153 छात्र परीक्षा देंगे।

22815 सुपरवाइजर औरं 1755 केंद्र अधीक्षक नियुक्त

परीक्षाओं के सुव्यवस्थित संचालन के लिए 22815 सुपरवाइजर और 1755 केंद्र अधीक्षक नियुक्त किए गए हैं। प्रदेशभर में 1755 परीक्षा केंद्रों में से शैक्षिक परीक्षा के लिए 1382 और ओपन स्कूल की परीक्षा के लिए 282 और शैक्षिक व मुक्त विद्यालय के संयुक्त 91 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

312 फ्लाइंग दस्ते परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण करेंगे

परीक्षाओं में नकल व अन्य अनुचित साधनों के इस्तेमाल पर रोक लगाने के लिए 312 फ्लाइंग दस्ते परीक्षा केंद्रों का लगातार निरीक्षण करेंगे। इनमें बोर्ड अध्यक्ष-01, बोर्ड सचिव-01, बोर्ड अध्यक्ष के विशेष उडऩदस्ते -69, बोर्ड सचिव 22, जिला प्रश्न 22, उप-मंडल प्रश्न 47, रैपिड एक्शन फोर्स 10, एसटीएफ 18, नियंत्रण कक्ष के पांच उडऩदस्ते गठित किए गए हैं। इसके अलावा जिला उपायुक्तों 22, उप-मंडल अधिकारी (ना0) के 70, जिला शिक्षा अधिकारी के 22, उप-सचिव का एक उड़नदस्ता और सहायक निदेशक व सहायक सचिव के दो-दो उडऩदस्ते गठित किए गए हैं।

परीक्षा केंद्रों के बाहर धारा 144 लागू रहेगी

बोर्ड सचिव ने बताया कि बाह्य हस्तक्षेप रोकने के लिए परीक्षा केंद्रों पर धारा-144 लागू रहेगी। अवहेलना करने वालों के खिलाफ धारा-188 के अधीन कार्रवाई की जाएगी। नकल रोकने के लिए परीक्षा केंद्रों के भवनों के निकट फोटोस्टेट पर भी पाबंदी रहेगी।

 

बोर्ड परीक्षाओं के दौरान केंद्रों की मॉनिटरिंग करने के लिए प्रदेश में पांच कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। रोहतक, गुरुग्राम, फतेहाबाद, कुरुक्षेत्र और बोर्ड मुख्यालय भिवानी में स्थापित कंट्रोल रूम पर बोर्ड अधिकारी परीक्षाओं के संचालन की मॉनिटङ्क्षरग करेंगे। भिवानी स्थित बोर्ड मुख्यालय कंट्रोल रूम का वाट्सएप नंबर 8571867627 और दूरभाष 01664-254604 जारी किया गया है।

You may also like

सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या मामले में इसी हफ्ते आ सकता है ये बड़ा फैसला

अयोध्या राम जन्मभूमि मामले से जुड़े एक अहम केस में