अन्ना के आंदोलन में नहीं जाएंगे हार्दिक पटेल, SP-BSP गठबंधन को किया समर्थन

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के आंदोलन का गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने समर्थन किया है. हार्दिक पटेल ने ‘आजतक’ से खास बातचीत में कहा कि अन्ना हजारे किसानों और लोकपाल के लिए जो आवाज उठा रहे हैं, मैं उसका समर्थन करता हूं. उन्होंने कहा कि अन्ना हजारे से फोन पर बात करने की कोशिश की लेकिन उनसे बात नहीं हो पाई.

हार्दिक ने कहा कि वह अन्ना के आंदोलन में शामिल होने रामलीला मैदान नहीं जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि जो भी किसानों के मुद्दे पर आंदोलन करता है, उसे समर्थन देने का मेरा मूलभूत अधिकार है. लेकिन यह किसने कहा कि हार्दिक पटेल अन्ना के आंदोलन में जाने वाला है. बता दें, कि शनिवार को भी हार्दिक के आने की खबरें थीं, लेकिन वो नहीं आ पाए.

अन्ना को खुलकर समर्थन देना चाहिए

हार्दिक ने कहा कि वहां जाने का मेरा अभी तक कोई प्लान नहीं है. अकोला में जब मैं गया था तो कुछ लोगों ने मुझे कहा कि अन्ना के आंदोलन में जाना चाहिए. मैं दिल्ली अपने दूसरे कार्यक्रम की वजह से आया था. हार्दिक ने कहा कि अन्ना के आंदोलन को समर्थन होना ही चाहिए. हर व्यक्ति को समर्थन देना चाहिए. वह लोकपाल और किसानों की बात करते हैं, भ्रष्टाचार के खिलाफ बात करते हैं, तो खुलकर समर्थन देना चाहिए. हार्दिक पटेल ने कहा कि मैं अभी अन्ना से मिलने नहीं जा रहा हूं लेकिन उनके आंदोलन को मेरा समर्थन है. जहां जरूरत पड़ेगी हम उनके साथ हर जगह खड़े हैं. गुजरात में भी जरूरत पड़ी तो वहां भी प्रदर्शन करने को तैयार हैं.

मुद्दे के हल के लिए सबको साथ लेकर चलना जरूरी

हार्दिक ने कहा कि हम तो बीजेपी के खिलाफ हैं और अगर उनके प्रोटेस्ट में जाएंगे तो भी भाजपा के खिलाफ ही बोलेंगे. उन्होंने कहा कि बीजेपी की गलत नीति की वजह से अन्ना जी को लोकपाल की जगह किसानों की भी बात करनी पड़ रही है. हार्दिक ने कहा कि मैं किसी राजनीतिक दल से नहीं हूं, लेकिन देश के अंदर आप किसी मुद्दे पर अगर हल निकालना चाहते हैं तो सबको साथ लेकर चलना पड़ता है. चाहे वो पॉलिटिकल आदमी हो या नॉन पॉलिटिकल.

सपा-बसपा गठबंधन को हार्दिक का समर्थनयूपी में सपा-बसपा के गठबंधन पर हार्दिक पटेल ने कहा कि इससे पहले मुलायम और कांशीराम ने जोड़ी बनाई थी. अगर यह दोनों भी बना रहे हैं तो इसमें गलत क्या है? हार्दिक ने कहा कि अगर दो सीट आने के बाद बीजेपी मणिपुर जैसे राज्य में गठबंधन कर लेती है तो फिर यह दोनों गठबंधन करें तो इसमें गलत क्या है? आप कश्मीर के अंदर पीडीपी के साथ गठबंधन कर सकते हो तो सपा-बसपा का गठबंधन गलत क्यो है? हार्दिक ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हमारा बड़ा टीमवर्क है. उन्होंने कहा कि सपा और बसपा के गठबंधन को मेरा पूरा समर्थन है. लोगों के सामने लड़ने के लिए सबको एकजुट होना होगा.

नमो ऐप पर क्या बोले हार्दिक

हार्दिक ने कहा कि नमो ऐप को लेकर जो मामला है उसकी जानकारी मुझे पूरी नहीं है. लेकिन मेरा यह मानना है कि अपने स्वार्थ के लिए, गलत नीतियों की वजह से सोशल मीडिया और यह सब हमारे देश के लिए गुप्त चीजें हैं. उसपर बड़ा ध्यान रखना पड़ता है. उन्होंने कहा कि जैसे जवानों की जानकारी सीक्रेट रहती है, ऐसे किसी व्यक्ति की निजी जानकारी भी गोपनीय होती है. हार्दिक ने कहा किअगर देश के प्रधानमंत्री की जान अहम है तो किसी भी व्यक्ति की जान कीमती होती है. अगर प्रधानमंत्री की कोई जानकारी गुप्त रहती है तो किसी व्यक्ति की भी जानकारी गुप्त रहनी चाहिए. उन्होंने कहा, इस मुद्दे पर मेरा मानना है कि मैं सरकार को दोष नहीं दूंगा. जब तक जनता को समझ नहीं आए, जब तक जनता जागृत नहीं होती तब तक स्थिति हमारे साथ होती रहेगी.

You may also like

सड़क पर चलना हो जाएगा महंगा, पेट्रोल के बाद 14% तक चढ़ सकते हैं CNG के दाम!

सड़क पर चलने वालों के लिए बुरी खबर है.