Home > Mainslide > GST: देश में 1205 सामानों के रेट तय, जानिए क्या हुआ सस्ता और कहां देना होगा ज्यादा पैसा…

GST: देश में 1205 सामानों के रेट तय, जानिए क्या हुआ सस्ता और कहां देना होगा ज्यादा पैसा…

देश में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने के बाद खाने-पीने और दैनिक आवश्यकता की आवश्यक वस्तुएं तो सस्ती होंगी ही, बिजली और लोहा-इस्पात के भी सस्ते होने के आसार हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि जीएसटी परिषद ने इनसे जुड़ी वस्तुओं पर जीएसटी की दर वर्तमान दर से भी कम तय की है। इसका फैसला केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में श्रीनगर में हुई जीएसटी परिषद की 14वीं बैठक में हुआ।GST: देश में 1205 सामानों के रेट तय

पहले दिन की बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए जेटली ने बताया कि बृहस्पतिवार की बैठक में अधिकतर वस्तुओं पर कर की दर तय हो गई। इसके साथ यह भी तय हो गया कि किन वस्तुओं को जीएसटी से छूट (एक्जंप्ट) दी जाएगी। कुल 1211 वस्तुओं में से छह को छोड़ कर अन्य वस्तुओं के लिए जीएसटी की दर निर्धारित हो गई है।

शुक्रवार की बैठक में सेवाओं की दरों पर चर्चा होगी। साथ ही छूट वाली वस्तुओं के साथ-साथ सोना, जूता-चप्पल, ब्रांडेड सामान और बीड़ी पर भी चर्चा होगी। डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ पर भी दर तय किया जाना बाकी है। यदि इस बैठक में सभी वस्तुओं पर सहमति नहीं बनती है तो इस पर एक और बैठक हो सकती है।

जरूरी सामान हुए सस्ते

केंद्रीय राजस्व सचिव हसमुख अढिया के मुताबिक दूध-दही, गुड़ जैसे पदार्थों पर जीएसटी से छूट रहेगी। मतलब ये सामान एक्जंप्ट की श्रेणी में रहेंगे। इसके साथ ही सभी किस्म के अनाजों पर भी शून्य कर लगेगा। इस समय कुछ राज्यों में चुनिंदा अनाज पर पांच फीसदी वैट लगता है। इसी तरह चाय, कॉफी, खाद्य तेल जैसे आवश्यक पदार्थों पर पांच फीसदी की दर से जीएसटी लगेगा

यह भी पढ़े:  मेट्रो हुई दोगुनी महंगी, बसों की ओर लौट रहे लोग…

जबकि अभी इस पर चार से छह फीसदी के बीच वैट लग रहा है। तेल, साबुन, टुथ पेस्ट जैसे रोज उपयोग होने वाले सामानों पर भी 18 फीसदी की दर से जीएसटी लगाया जाएगा, जबकि इस समय इस पर 28 फीसदी का कर लग रहा है।

Loading...

Check Also

भारतीय नौसेना ने सोमालिया के तट से हथियार और गोला-बारूद जब्त किए

अदन की खाड़ी में तैनात भारतीय नौसेना के जहाज को बड़ी सफलता हाथ लगी है। …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com