फेक न्यूज से निपटने के लिए Google करने जा रहा है 19.5 अरब रुपये का निवेश

- in गैजेट

ऑनलाइन फेक न्यूज से निपटने के लिए कंपनियां लगातार कोशिश करने की बात कर रही हैं, लेकिन कोई कास असर देखने को नहीं मिल रहा है.

गूगल ने एक नई पहल की है जिसके तहत कंपनी ने कहा है कि वो 300 मिलियन डॉलर लगाएगी. इसका मकसद न्यूज पब्लिशर्स से मिलकर गलत जानकारियों को इंटरनेट से हटाना और फेक न्यूज को रोकना है. गूगल ने कहा है कि कंपनी वो अपने सिस्टम को इस तरह से ट्रेन कर रही है कि वो सही खबरों की पहचान करके असली और सटीक सर्च रिजल्ट दिखा सके. उदाहरण के तौर पर हाल ही में गूगल ने टेस्टिंग के मकसद से यूट्यूब में ब्रेकिंग न्यूज का सेक्शन ऐड किया है.  

गूगल ने एक नया प्रोग्राम सब्सक्राइब विद गूगल लॉन्च किया है. इसके तहत यूजर्स के लिए ऑनलाइन न्यूज साइट को सब्सक्राइब करना आसान होगा. यूजर्स इन न्यूज वेबसाइट्स को इन न्यूज पेज से ही सब्सक्राइब कर पाएंगे इसके लिए उन्हें ऑप्शन भी दिया जाएगा. फिलहाल सब्सक्राइब का ऑप्शन न्यू यॉर्क टाइम्स, वॉशिंगटन पोस्ट और यूएसए सहित कुछ और भी न्यूज वेबसाइट के साथ दिया जाएगा. हालांकि आने वाले समय में कंपनी इसे दूसरे पब्लिशर्स के लिए भी जारी करेगी.

सर्च इंजन गूगल ऑनलाइन न्यूज टूल्स पर भी निवेश करने की तैयारी में है. गूगल ने यह भी कहा है कि कंपनी ने पहले ही अपने ऐल्गोरिद्म में कुछ बदलाव किए हैं ताकि गलत जानकारियों की पहचान की जा सके, लेकिन अब इससे ज्यादा किया जाएगा. गूगल ने इस 300 मिलियन डॉलर को अगले तीन साल तक निवेश करने का टार्गेट तय किया है और इसका मकसद फेक न्यूज और गलत जानकारियों से निपटना होगा.

गौरतलब है कि गूगल और फेसबुक पर फर्जी खबरों और गलत जानकारियों को न रोक पाने का आरोप लगातार लगता है. इसमें गूगल की वीडियो वेबसाइट यूट्यूब भी शामिल है जिसपर फर्जी वीडियोज डालने आरोप लगता है. गूगल इस नई पहल के तहत अपने सभी प्लेटफॉर्म से फेक न्यूज को पहचान कर उससे निपटने का काम करेगा.

You may also like

10,000 रुपये से भी कम कीमत में इस भारतीय कंपनी ने लॉन्च किया अपना लैपटॉप

नई दिल्ली। भारतीय निर्माता कंपनी RDP ने अपना सबसे