माथे की झुर्रियां देती है हृदय रोग का संकेत: शोध

माथे की झुर्रियों का बढ़ना केवल बढ़ती उम्र का संकेत नहीं, बल्कि हृदय रोग के खतरे की चेतावनी भी हो सकता है। एक शोध में सामने आया है कि झुर्रियों का सामान्य से अधिक बढ़ना और एथेरोसिलेरोसिस नामक हृदय रोग आपस में संबंधित हैं। इस बीमारी में धमनियां सख्त हो जाती हैं जिससे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

फ्रांस की सेंटर हॉस्पीटलायर यूनिवर्सिटी डी टाउलाउस के प्रोफेसर ने कहा, झुर्रियां जितनी अधिक और गहरी होंगी हृदयरोग के कारण जान का खतरा उतना ही अधिक बढ़ जाएगा। झुर्रियों से हृदय रोग के खतरे की पहचान करना ब्लड प्रेशर या अन्य तरीकों से बेहतर साधन तो नहीं है, लेकिन यह खतरे की घंटी की तरह जरूर काम कर सकता है।”

मगरमच्छों से भरी नदी में फंस गई अवैध नौका, ऐसे चला बचाव अभियान

दरअसल, कोलेजन प्रोटीन और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस, झुर्रियों के बढ़ने और एथेरोसिलेरोसिस दोनों के लिए ही जिम्मेदार हैं। इसी के चलते वैज्ञानिकों ने एक-दूसरे पर दोनों के प्रभाव की पहली बार जांच की। 3,200 वयस्कों की जांच के बाद वैज्ञानिकों ने पाया कि झुर्रियां बढ़ने से हृदय रोग के कारण जान जाने का खतरा दस गुना तक बढ़ जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

भारत ने रोहिंग्याओं के लिए बांग्लादेश को राहत सामग्री प्रदान की

भारत ने हिंसा के कारण म्यामांर छोड़कर बांग्लादेश में शरणार्थी