एडल्‍ट वीडियो देखने के बाद लड़कियां करती हैं ये काम, सामने आई होश उड़ा देने वाली सच्चाई

- in जीवनशैली

आज के समय में पोर्न फिल्में देखना युवाओं में क्रेज सा होता जा रहा है। लेकिन एक बात सच है कि पोर्न फिल्में बाहर से जितनी खूबसूरत और आकर्षक दिखती है वो असल में उतनी ही नुकसानदायक भी होती हैं। क्या आपने कभी सोचा है कि महिलाएं व पुरुष पोर्न क्यों देखती हैं और पोर्न देखते समय उनके मन में क्या चल रहा होता है? हाल के आंकड़ों से एक बेहद चौंकाने वाली बात सामने आई है। हाल ही में एक शोध किया गया जिसके मुताबिक भारतीय महिलाओं में पोर्न फिल्में देखने की प्रवृत्ति पहले के मुकाबले कई गुना बढ़ गई है। जब भारत में ऑनलाइन पोर्न फिल्में देखने की बात आती है, भारत धीरे-धीरे अन्य देशों की बराबरी करता दिख रहा है।

हैरानी इस बात की होती है कि न केवल भारतीय पुरुष ही बल्कि भारतीय महिलाएं और लड़कियां भी इस मामले में कम नहीं हैं। जी हां ये हम नहीं बल्कि एक सर्वे के अनुसार ये बात सामने आया है कि भारत में अब 30 फीसदी महिलाएं अश्लील वेबसाइटों पर नियमित रूप से पोर्न फिल्में देखती हैं लेकिन लड़कियों पर एडल्ट फिल्मों का प्रभाव क्या होता है ये भी एक चौकाने वाली बात है।

जानकारी के लिए बता दें कि एडल्ट फिल्में देखने के बाद लड़के और लड़कियों दोनों पर इसका असर पड़ता है। वहीं सर्वे के अनुसार जो पुरुष या महिला ये विडियो ज्‍यादा देखते हैं उनके दिमाग की रचनात्मकता धीरे-धीरे कमजोर होने लगती है। इतना ही नहीं इस सर्वे में ये भी पता चला की इस तरह के वीडियो देखने वाले लोगों में याददाश्त की समस्या भी आने लगती हैं। वहीं नहीं लड़कियों पर इस विडियो का प्रभाव सबसे ज्‍यादा पड़ता है उनकी यादाश्त क्षमता कम होने लगता है और नियमित रुप से पोर्न देखने से दिमाग की मांसपेशियां शिथिल हो जाती हैं और सिकुड़ सी जाती हैं।

एक जमाना था जब इस चीज का नाम लेने में भी डर लगता था लोग इसे गलत मानते थें। उसे ऐसे देखते थे जैसे उन्हें किसी का मर्डर ही कर दिया हो लेकिन आज के समय में भारत भी अन्य देशो से बराबरी कर रहा है। आज के समय में ऐसे शायद ही आपको मिले की जो एडल्ट फिल्म न देखते हो यह फिल्म सभी को पसंद है लेकिन आपको बता दे की भले ही बाहर से देखने में यह फिल्म देखने में अच्छी लगे लेकिन अन्दर से वह उतनी ही नुकसानदायक भी है।

सालों से महिलाओं को कामुकता के दृश्य माध्यमों ने कम आकर्षित किया है। उन्हें ऑनलाइन चैट रूम की भावनात्मक यौन अपील ने अश्लील साइटों के बनिस्पद ज्यादा आकर्षित किया है। महिलाओं को भी पुरुषों की ही तरह पोर्न देखना पसंद होता है, लेकिन ज्यादातर महिलाएं रोमांस और भावनात्मक संबंध का अनुभव करना चाहती हैं। यही कराण है कि महिलाओं को पोर्न किताबें पढ़ना भी बेहद पसंद होता है।

आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि इस वीडियो का प्रभाव पुरुषों के साथ साथ महिलाओं के ऊपर भी नकारात्मक पड़ता है जो नियमित रूप से ऐसी फिल्में देखते है उन्हें इसकी आदत सी पड़ जाती है इतना हीं नहीं लड़कियों को इसकी आदत ऐसी लग जाती है कि इसका हमियाजा इनके परिवार को भुगतना पड़ जाता है जिसकी कल्पनाएँ कुछ इस तरह की हो जाती है वे उस समय कुछ भी कर सकती है।

You may also like

खाने से ज्यादा लड़कियां इस चीज में करती है खीरे का इस्तेमाल!

खीरा हमारी सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक