गांगुली बोले- करियर की सबसे बड़ी भूल रही इन्हें कोच बनाना

- in खेल

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने अपनी किताब ‘ए सेंचुरी इज नॉट इनफ’ में पूर्व कोच ग्रेग चैपल पर निशाना साधा है। इस किताब में टीम इंडिया के पूर्व कोच का जिक्र करते हुए गांगुली ने लिखा कि ग्रेग चैपल को कोच बनाना उनकी सबसे बड़ी गलती थी। साल 2005 में कोच ग्रेग चैपल के कहने पर सौरव गांगुली को कप्तान के पद से हटा दिया गया था।

गांगुली बोले- करियर की सबसे बगांगुली बोले- करियर की सबसे बड़ी भूल रही इन्हें कोच बनानाड़ी भूल रही इन्हें कोच बनानाबता दें कि ग्रेग चैपल टीम इंडिया के अब तक के सबसे विवादित कोच रहे हैं। चैपल को 2005 में भारतीय क्रिकेट टीम का कोच नियुक्त किया गया था, लेकिन 2007 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के शर्मनाक प्रदर्शन के बाद उन्हें कोच के पद से हटा दिया गया था।

गांगुली ने बताया कि 2004 में जॉन राइट के जाने के बाद टीम को नए कोच की जरूरत थी। इस पर गांगुली ने डालमिया को ग्रेग चैपल का नाम सुझाया था, लेकिन सुनील गावस्कर जैसे कई दिग्गजों ने सौरव को उन्हें कोच न बनाने की सलाह दी थी।

गांगुली के मुताबिक सुनील गावस्कर ने उनसे कहा था, ‘ग्रेग चैपल को कोच बनाने से पहले एक बार फिर सोच लो। हमारे पास ग्रेग चैपल के भाई इयान चैपल के रूप में भी एक बेहतर विकल्प मौजूद है। वैसे भी ग्रेग चैपल का कोचिंग एक्सपीरियंस बहुत ज्यादा प्रभावशाली नहीं रहा है। उनके साथ मिलकर टीम का नेतृत्व करने में तुम्हें कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।’

अपनी किताब में ग्रेग चैपल की आलोचना करते हुए गांगुली ने लिखा कि 2005 में ग्रेग चैपल को कोच बनाना उनकी जिंदगी का सबसे अशांत अध्याय है। उन्होंने बताया कि ग्रेग चैपल को कोच बनाने के बाद न सिर्फ उनकी कप्तानी छिन गई बल्कि प्लेइंग इलेवन से भी धीरे-धीरे उनका पत्ता साफ होने लगा।

You may also like

पाकिस्तान की हार के बाद सरफराज बोले- सिर्फ दो स्पिनरों के लिए की थी तैयारी

नई दिल्लीः एशिया कप के 5वें मुकाबले में भारतीय