GANESH CHATURTHI 2018 : आखिर क्यों होती है सबसे पहले गणेश जी की पूजा, जानिए

- in धर्म

जल्द ही आपको हर गली मोहल्ले में ‘गणपति बाप्पा मोरिया’ की गूंज सुनाई देंगी. इन दिनों गणपति के मंदिरों की साज सज्जा चल रही है और जगहों जगहों पर गणेश जी की झांकियां सजाई जा रही हैं. जैसा कि हम सभी जानते हैं कि किसी भी काम की शुरुआत करने से पहले श्री गणेश को याद किया जाता है. ऐसा कहा जाता है कि देवता खुद भी भगवान गणेश जी के नाम लिए बगैर अपने कामों की शुरुआत नहीं करते हैं.GANESH CHATURTHI 2018 : आखिर क्यों होती है सबसे पहले गणेश जी की पूजा, जानिए

शास्त्रों में लिखा है कि भगवान गणेश जी को याद किये बगैर कोई भी मांगलिक कार्य, अनुष्ठान या महोत्सव की शुरुआत नहीं की जा सकती. भगवान गणेश को विघ्नहर्ता, भक्तों का दुःख दूर करने वाले, विद्या, बुद्धि व तेज़ बल के लिए जाना जाता है लेकिन कभी आपने ये सोचा है कि सारे देवताओं से पहले आखिर भगवान गणेश जी की ही पूजा क्यों होती है. अगर नहीं तो आज हम आपको बताएँगे कि किसी भी काम की शुरुआत करने से पहले भगवान गणेश की पूजा क्यों की जाती है.

​दरअसल इसके पीछे एक पौराणिक कथा है जो आज हम आपको बताएँगे.. पौराणिक कथा के मुताबिक़ सारे देवताओं में ये विवाद हो गया था कि धरती पर सबसे पहले किस देवता की पूजा होगी. इस दौरान सभी देवता खुद को सबसे सर्वश्रेष्ठ साबित करने लगे और ऐसे में विवाद बहुत बढ़ गया. इसके बाद इस समस्या के हल के लिए सारे देवता भगवान शिव के पास पहुंचे.

इस दौरान भगवान शिव ने प्रतियोगिता रखी कि जो सबसे पहले पूरे ब्राह्माण का चक्कर लगाकर उनके पास आ जायेगा वही धरती पर सबसे पहले पूजा जायेगा. इस प्रतियोगिता का हिस्सा भगवान शिव के पुत्र गणेश जी भी थे. बस फिर क्या थे सारे देवता अपने-अपने वाहन लेकर ब्राह्माण के चक्कर लगाने निकल गए. जब वे वापस लौटकर आये तो भगवान शिव तब तक गणेश जी को इस प्रतियोगिता के विजेता घोषित कर दिए गए थे.

ये सब देखने के बाद सारे देवता हैरान रहे गए और भगवान शिव से पूछने लगे कि आखिर यह सब क्या है. तब भगवान शिव ने कहा कि माता-पिता को समस्त ब्रह्माण्ड एवं समस्त लोक में सबसे ऊंचा स्थान दिया गया है और गणेश ने समस्त सृष्टि मानकर अपने माता पिता के चक्कर लगाए इसलिए धरती पर सबसे पहले गणेश जी की पूजा की जायेगी. भगवान शिव की इस बात से सारे देवता सहमत हो गए और तब से लेकर आज तक सबसे पहले भगवान गणेश जी की ही पूजा की जाती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आज का राशिफल और पंचांग: 25 सितंबर दिन मंगलवार, आज इन राशि वालों को बजरंगबली देंगे पूरा साथ…

।।आज का पञ्चाङ्ग।। आप सभी का मंगल हो 25