तीन दिन तक 6 साल का मासूम बच्चा रहा अपनी माँ की लाश के साथ, पूरी सच्चाई जानकर उड़ जाएंगे होश

- in अपराध, हरियाणा

जिंदगी कब किसका साथ छोड़ दे कोई नहीं जानता, जो आज है वो कल भी होगा ये जरूरी नहीं. किसी की मौत अगर नेचुरल हो या फिर एक्सीडेंटल हो तो उसे लोग ईश्वर की मर्जी मानते हैं लेकिन जब कोई आत्महत्या कर अपना जीवन समाप्त करता है तो उसे कायरता कहा जाता है. आज हम आपको एक ऐसे वाकये के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ एक माँ ने अपने छह साल के बेटे के सामने ही फांसी लगा ली और वो मासूम बच्चा तीन दिनों तक अपनी माँ की लाश के साथ रहा. आईये जानते हैं की आखिर क्या है ये पूरा मामला.

आपको बता दें की ये घटना चंडीगढ़ के मोहाली का है, यहाँ के फेज सात के मकान नंबर 537 में रहने वाली एक महिला ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. बता दें की महिला के साथ घर में उसका छह साल का एक बेटा भी था जो तीन दिनों तक अपनी माँ के लाश के साथ ही था.

तीन दिन तक 6 साल का मासूम बच्चा रहा अपनी माँ की लाश के साथ, पूरी सच्चाई जानकर उड़ जाएंगे होश

तीन दिनों तक महिला की लाश पंखे से लटकती रही और जब बॉडी के सड़ने की वजह से बदबू फैली तो आसपास रहने वाले लोगों ने पुलिस को फोन कर बुलाया और घर के मकान मालिक को भी खबर किया. पुलिस जब मौके पर पहुंची तो देखा की महिला की लाश पंखे से टंगी है और वही पास लगे सोफे पर उसका छह साल का बेटा सो रहा है. महिला की बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद पुलिस ने जब उसके बेटे से पूछताछ की तो उसने बताया की उसकी माँ ने उसे बताया था की वो फांसी लगाने जा रही है और इस बारे में वो किसी को ना बताये. बच्चे ने पुलिस को ये भी बताया की उसने अपनी मम्मी से कहा था की फांसी लगाने से वो मर जाएगी इसलिए ऐसा ना करे, लेकिन मम्मी ने उसकी बात नहीं सुनी.

पुलिस सूत्रों के अनुसार मृतक महिला का नाम जसपिंदर कौर था और वो एक आर्मी ऑफिसर रणजीत सिंह की वाइफ थी जिनकी पोस्टिंग फरीदकोट में है. आपको बता दें की पुलिस ने जब बच्चे से पूछा की क्या उसकी माँ ने किसी को फांसी लगाने के बारे में बताया था तो इसके जवाब में बच्चे ने बताया की हाँ उसकी माँ ने उसके दुसरे पापा को फोने करके बताया था की वो फांसी लगाने जा रही है.

बच्चे के इस बयान के बाद पुलिस को महिला के अफयेर होने की आशंका है, इसके बाद बच्चे ने पुलिस को बताया की उसने उन्हें फोने करके भी बताया था की मम्मी ने फांसी लगा लिया है लेकिन इसके वाबजूद भी वो नहीं आये. इधर दूसरी तरफ आसपास रहने वाले लोगों ने बताया की 6 साल का अरमान बीते दिनों से हर रोज शामको बच्चों के साथ पार्क में खेलने भी आता था लेकिन उसने अपनी मम्मी के बारे में किसी से कुछ नहीं कहा, वो चुपचाप आता और शाम होने से पहले अपने घर लौट जाता था. फिलहाल चंडीगढ़ पुलिस इस मामले की जाँच कर रही है और महिला की लाश को भी फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

हरियाणा के प्रयास कुंज आश्रम में नाबालिग से हुआ दुष्कर्म

जींद। पानीपत रोड स्थित गांव निर्जन के प्रयास