चार साल बाद फ्लिपकार्ट का आईपीओ ला सकेगी वालमार्ट

- in कारोबार

रिटेल चेन की प्रमुख अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट इंक, फ्लिपकार्ट का इनिशल पब्लिक ऑफरिंग्स (आईपीओ) ला सकती है ,हालाँकि इससे निवेशकों के लिए रास्ता खुल जाएगा लेकिन परेशानी यह है कि नियमों के तहत वालमार्ट ऐसा चार साल बाद ही कर सकती है .

बता दें कि गत सप्ताह ही वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट में 77 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी . आपको जानकारी दे दें कि वॉलमार्ट, फ्लिपकार्ट पर 16 अरब डॉलर यानी 1.05 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी. इससे अमेरिकी कंपनी की भारत के ई-कामर्स क्षेत्र में पहुंच हो जाएगी .जहां एक दशक में उसके 200 अरब डॉलर तक की वृद्धि करने का अनुमान है. अमेरिका के शेयर बाजार नियामक एसईसी को दी जानकारी के अनुसार ‘रजिस्ट्रेशन राइट्स एग्रीमेंट’ का सौदा पूरा होने के चार साल बाद वह फ्लिपकार्ट का आईपीओ ला सकेगी. तब तक उसे इंतजार करना ही पड़ेगा 

विदेश से धन भेजने के मामले में भारतीय दुनिया में सबसे आगे

उल्लेखनीय है कि वालमार्ट ने खुलासा किया कि आईपीओ के लिए फ्लिपकार्ट का मूल्यांकन उसके द्वारा किए गए मूल्यांकन से कम नहीं होगा. हालांकि जापान के सॉफ्टबैंक ने फ्लिपकार्ट में अभी अपनी 20-22 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने पर निर्णय नहीं किया है.हालाँकि आईपीओ की कार्रवाई चार साल बाद होगी तब तक सॉफ्ट बैंक भी कोई फैसला ले लेगा .

सम्बंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़ी खुशखबरी: अब इस कार्ड के जरिये यात्री कर सकेंगे बस, मेट्रो और ऑटो में सफर

जल्द ही देशवासियों को एक शहर से दूसरे