फेसबुक डाटा लीक: चुनाव आयोग का पैनल करेगा फेसबुक की जांच

- in राष्ट्रीय
फेसबुक के जरिए चोरी हुए यूजर्स डाटा की बात सामने आने के बाद भारतीय चुनाव आयोग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के साथ अपने संबंधों की समीक्षा करेगा। फेसबुक के मालिक और संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने कैंब्रिज एनालिटिका मामले में फेसबुक यूजर्स से माफी मांगी है। सूत्रों का कहना है कि चुनाव आयोग ने एक विशेषज्ञ पैनल बनाया है जो दो दिन में अपनी डिटेल रिपोर्ट देगा। इस पैनल में एक सोशल मीडिया और एक कानूनी क्षेत्र के एक्सपर्ट हैं। रिपोर्ट मिलने के बाद आयोग इसपर चर्चा करेगा।

 

फेसबुक डाटा लीकमुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि एक हफ्ते के अंदर फेसबुक के साथ साझेदारी करके युवाओं को मतदान के लिए प्रोत्साहित करने पर अब आयोग की बैठक होगी। उन्होंने कहा कि आयोग डाटा लीक को लेकर चिंता में है जिसके जरिए साइकोलॉजिकल प्रोफाइल बनाकर मतदाताओं को प्रभावित किया जाता है। 17 मार्च को इस बात का खुलासा हुआ था कि राजनीतिक कंसल्टेंसी कैंब्रिज एनालिटिका ने 5 करोड़ फेसबुक यूजर की जानकारी और सहमति के बिना निजी जानकारी को खंगाला था।

इस खबर के सामने आने के बाद फेसबुक को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि यह पता चल गया है कि बड़ी ही आसानी से यूजर्स की निजी जानकारी निकाली जा सकती है। इस डाटा का कथित तौर पर एक पर्सनैलिटी क्विज के जरिए हासिल किया गया। जिसमें 3,20,000 फेसबुक यूजर्स जिन्होंने इसमें हिस्सा लिया उन्होंने अनजाने में ना केवल अपनी प्रोफाइल का बल्कि 160 दोस्तों की प्रोफाइल का भी एक्सेस दे दिया। 

इस मामले पर जुकरबर्ग ने माफी मांगी है। उनका कहना है कि यूजर्स का डाटा सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी हमारी है। अगर हम ऐसा नहीं कर पाते हैं तो हमें आपके लिए काम करने का कोई हक नहीं है। यह विश्वास में सेंध लगाने जैसा है। हम यह भी सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि भविष्य में ऐसा न हो। उन्होंने कहा कि कैंब्रिज एनालिटिका ने एक ऐप के जरिए यूजर्स के डाटा का चोरी किया था जिसका निर्माण एक शोधकर्ता ने किया था।

You may also like

इमरान खान का मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- ‘भारत के अहंकारी और नकारात्‍मक जवाब से निराश हूं’

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार को नरेंद्र