फेसबुक और यूट्यूब भारत में सबसे ज्यादा पॉपुलर- रिपोर्ट

- in गैजेट

इंडिया में सबसे ज्यादा पॉपुलर सोशल नेटवर्क फेसबुक और यूट्यूब है। सोशल नेटवर्क पर इन दोनों की भागीदारी क्रमश: 47 और 42 प्रतिशत की है। यह कहना है भारत में वीडियो ट्रेंड पर आई रिपोर्ट का जिसके मुताबिक भारत में सोशल नेटवर्क तेजी से बढ़ रहा हैं।

स्मार्टफोन के बढ़ते इस्तेमाल, तेज इंटरनेट स्पीड, बड़े स्तर पर कंटेंट की उपलब्धता और बढ़ती ऑडियंस के साथ अब डिजिटल वीडियो का क्रेज सबसे ज्यादा बढ़ता जा रहा है। लेकिन अभी भी काफी कम लोगों को पता है की भारत में इंटरनेट पर किस तरह से वीडियो देखी जाती हैं?

कौन-सी वीडियोज को सबसे ज्यादा देखा जाता है? ऑडियंस किस प्लेटफॉर्म पर वीडियो देखना सबसे ज्यादा पसंद करते हैं? लोग कितनी वीडियोज देख रहे हैं आदि। जनवरी 2016 और जनवरी 2017 के बीच के समय भारत में वीडियो ट्रेंड पर आई रिपोर्ट के अनुसार हम इस पोस्ट में भारत में तेजी से बढ़ रहे ट्रेंड के बारे में बताने जा रहे हैं।

अपने लैपटॉप को बनाना है पर्सनल फोन तो फॉलो करें इन स्टेप्स को

सोशल वीडियो का बढ़ रहा चलन-

भारत में फेसबुक और यूट्यूब दो सबसे पॉपुलर सोशल नेटवर्क हैं। ऑनलाइन देखी गई कुल वीडियोज में फेसबुक और यूट्यूब की क्रमश: 47 और 42 प्रतिशत की भागेदारी है। बाकी का 11 प्रतिशत हॉटस्टार, नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम वीडियोज, जियो टीवी और वूट का है। औसत भारतीय यूजर्स हर महीने फेसबुक और यूट्यूब पर ही 8.5 घंटे वीडियो कंटेंट देखते हैं।

वाई-फाई डाटा से ज्यादा मोबाइल डाटा का होता है इस्तेमाल-

इस मामले में भारत बाकी पूरी दुनिया से अलग है। इसी आदत का नतीजा है की मुकेश अम्बानी का रिलायंस जियो मुनाफे में है। भारत में 65 प्रतिशत यूजर्स मोबाइल डाटा से वीडियोज देखते हैं। वेस्ट में इस मामले में 50-50 प्रतिशत की भागीदारी है। जियो के आने के बाद से इसका उपभोग और बढ़ रहा है। ऐसा माना जा रहा है की 2021 तक यह आंकड़ां बढ़ कर 7GB प्रति महीने प्रति यूजर तक जा सकता है।

कॉमेडी/मनोरंजन हैं सबसे पॉपुलर-

फेसबुक और यूट्यूब पर देखा गया 50 प्रतिशत से ज्यादा वीडियो कंटेंट कॉमेडी या मनोरंजन से सम्बंधित है। गूगल की हाल में आई रिपोर्ट के अनुसार- यह कैटेगरी साल दर साल 100 प्रतिशत बढ़ रही है। AIB, TVF और वीर दास यूट्यूब में सबसे ज्यादा पॉपुलर है।

मर्दों से ज्यादा औरतें हैं उत्सुक-

उत्सुक यूजर्स से यहां हमारा मतलब उन लोगों से है जो औसत से ज्यादा वीडियोज देखते हैं। यूट्यूब और फेसबुक के मामले में 11 घंटे प्रति महीने वीडियोज देखना औसत से ज्यादा है। 8.5 घंटे प्रति महीने को औसत माना गया है। इस मामले में यूट्यूब पर औरतें मर्दो से 30 प्रतिशत ज्यादा, फेसबुक पर 37 प्रतिशत ज्यादा उपभोग करती हैं।

हिंदी वीडियोज को देखा जाता है सबसे ज्यादा-

सोशल मीडिया में भाषा को लेकर हमेशा लड़ाई रहती है। ऑनलाइन वीडियोज के मामले में हिंदी कंटेंट सबसे ज्यादा देखा जाता है। पिछले साल सभी प्लेटफॉर्म्स को मिलाकर हिंदी वीडियोज को 20,550 मिलियन व्यूज मिले थे। तेलुगु 12567 मिलियन व्यूज के साथ दूसरे नंबर पर रही। हिंदी वीडियोज में फिल्म, कॉमेडी और एनीमेशन को सबसे ज्यादा देखा जाता है।

वीकडे बनाम वीकेंड व्यूइंग-

लोगों को अकसर यह लगता है की लोग सबसे ज्यादा वीडियोज वीकेंड्स पर देखते होंगे। लेकिन भारत की इस मामले में भी अलग ही कहानी है। सभी प्लेटफॉर्म्स पर ऑनलाइन वीडियो व्यूइंग वीकडेस के मुकाबले वीकेंड पर गिर जाती है। 89 प्रतिशत ऑडियंस वीकडेस पर वीडियोज देखती है। वहीं, वीकेंड पर मात्र 65 प्रतिशत ऑडियंस वीडियो देखती हैं।

सम्बंधित समाचार

You may also like

अब NAMO एप से खरीद सकेंगे टी-शर्ट, नोटबुक, टोपी और मग जैसी चीजें…

2019 का चुनाव सिर पर है और इससे