बच्चों की बजाए बुजुर्गो को खाना चाहिए चॉकलेट, बुढ़ापे के लिए रामबाण इलाज है यह

- in हेल्थ

आमतौर पर चॉकलेट बच्चों के खाने की चीज मानी जाती है या फिर युवाओं में इसके प्रति दिलचस्पी देखने को मिलती है.. बुजुर्ग लोग तो इसका कोई खास शौक नहीं रखते हैं .. हां वे अपने पोते-पोतियों के लिए भले ही चॉकलेट खरीद लेते हों पर आपको बता दें कि वास्तव में चॉकलेट बच्चों की बजाए उनके दादा-दादी के लिए ज्यादे फायदेमंद है .. जी हां, दरअसल ये बात हम यूं ही नहीं कह रहे हैं बल्कि ये तथ्य हाल ही में किए गए शोध में सामने आया है । शोध के अनुसार चॉकलेट के सेवन से बुजुर्गों के कमजोर याददाश्त और दूसरी मानसिक गड़बड़ियों में सुधार होता हैं। चलिए आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं..

दरअसल हाल ही में इटली के एलक्यूविला विश्वविद्यालय में किए गए एक शोध कीमाने तो चॉकलेट के सेवन से बुजुर्गों के संज्ञानात्म कौशल में सुधार आ सकता है.. जिससे उनके याददाश्त की कमजोरी और दूसरी मानसिक परेशानियां दूर हो सकती हैं। शोध के अनुसार चॉकलेट के सेवन से लाभ का कारण इसमें मौजूद कोका बीन है, जो कि चॉकलेट का मुख्य घटक है और फ्लावनोल्स का भी अच्छा स्रोत है… असल में फ्लावनोल्स एक तरह का पोषक तत्व है, जो कि तंत्रिकाओं की सुरक्षा करता है.. ऐसे में चॉकलेट के जरिए अगर बुजुर्ग व्यक्ति रोजाना कोका और फ्लावनोल्स लेते हैं, तो उन्हे बातों के संज्ञान लेने की शक्ति और अधिक समय तक याद रखने की क्षमता सही रहती है ।

इसके अलावा अमेरिका में 2013 में हुए एक अध्ययन मे यह बात सामने आ चुकी है कि रोज दो कप हॉट चॉकलेट पीना बुजुर्ग व्यक्तियों के मस्तिष्क के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। दरअसल अमेरिकन अकादमी ऑफ न्यूरोलॉजी की शोध पत्रिका में प्रकाशित इस शोध मे का परिक्षण 60 पर किया गया था, जिनकी 73 वर्ष के आसपास थी और उन्हें डिमेंशिया नहीं था। इसमें सभी प्रतिभागियों ने एक महीने तक रोजाना दो कप हॉट चॉकलेट पी जिससे उनकी स्मरण शक्ति और सोचने समझने की क्षमता की में सकारात्मक असर देखने को मिला .. साथ ही अल्ट्रासाउंड से ये पता लगा कि उनके मस्तिष्क में रक्त प्रवाह भी पहले से बेहतर हो रहा है।यानी की चॉकलेट के सेवन का सीधा असर उनके मानसिक सेहत पर पड़ा था।

इसके साथ ही आपको ये भी बता दें कि बुजुर्गों के लिए चॉकलेट का सेवन मानसिक सेहत के लिए फायदेमंद होने के साथ ही शारीरिक रूप से फायदेमंद होता है .. जैसे कि ..

चेहरे पर बुढ़ापे का असर कम करता है

व्यस्क और बुजुर्ग लोग के लिए डार्क चॉकलेट का सेवन त्वचा के लिए लाभकारी होता है| इससे चेहरे की झुर्रियों कम होती है और चेहरे पर बुढ़ापे का असर कम दिखता है।

दिल के लिए फायदेमंद

स्वास्थ्य शोध के अनुसार चॉकलेट के सेवन से ब्लड-प्रेशर नियंत्रित रहता है.. ऐसे में दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा भी कम हो जाता है| यूरोपीय सोसायटी ऑफ कार्डियोलॉजी द्वारा किए गए शोध की माने तो अधिक मात्रा में चॉकलेट के सेवन से दिल की बीमारियों से सुरक्षि त रहा जा सकता है|चूंकि बुढ़ापे में दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है ऐसे में बुजुर्ग लोगों के लिए चॉकलेट विशेष तौर पर फायदेमंद हो सकता है।

वजन नियंत्रित करता है

ढ़लती उम्र में बढ़ता वजन भी अपने आप में बड़ी दिक्कत होती हैं क्योंकि मोटापे की वजह से कई सारी बीमारियां शरीर को अपना शिकार बना लेती हैं.. ऐसे में चॉकलेट का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है । दरअसल कैलिफोर्निया के सैन डिएगो विश्वविद्यालय में किए गए एक शोध के अनुसार जो वयस्क नियमित रूप से चॉकलेट का सेवन करते हैं, उनका बॉडी मास इंडेक्स चॉकलेट न खाने वालों की तुलना में बहुत कम रहता है|यानी की चॉकलेट के सेवन से वजन पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

You may also like

याददाश्त बढ़ाना है तो जरूर खाये मल्टीविटामिन

कई बार लोगों को भूलने की समस्या हो