हेल्थ चेकअप के बाद डॉक्टर बोले- उम्र का तकाजा है लालू की बीमारी

- in बिहार, राज्य

चारा घोटाले में दोषी बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) पहुंच चुके हैं। लालू को अस्पताल ले जाने जाने के दौरान डॉक्टरों की एक टीम एंबुलेंस में मौजूद थी। लालू का चेकअप करने के बाद रिम्स के डॉक्टर लाल मांझी ने कहा कि लालू प्रसाद ठीक हैं, उनकी जो भी बीमारी है वह सिर्फ उम्र का तकाजा है। अकसर बड़ी उम्र में इस तरह की परेशानियां होती हैं।  

हेल्थ चेकअप के बाद डॉक्टर बोले- उम्र का तकाजा है लालू की बीमारीइससे पहले दिल्ली एम्स से डिस्चार्ज करने के बाद रांची ले जाते समय कानपुर स्टेशन पर शुगर बढ़ने के दौरान उन्हें इंसुलिन दी गई। कड़ी सुरक्षा में सोमवार शाम चार बजे लालू प्रसाद यादव दिल्ली से राजधानी एक्सप्रेस से रांची के लिए रवाना हुए थे। बताया गया कि रास्ते में उन्होंने तबीयत ठीक न होने की शिकायत की। 

रात 9:14 बजे ट्रेन कानपुर सेंट्रल स्टेशन पहुंची तो यहां रेलवे लोको अस्पताल के डॉ. रफीक अहमद और उनकी टीम ने स्टेशन पर खड़ी ट्रेन में ही उनका चेकअप किया। डॉक्टर ने बताया कि जांच में लालू प्रसाद का शुगर लेवल बढ़ा पाया गया। इससे उन्हें इंसुलिन की डोज देनी पड़ी। प्लेटफार्म नंबर चार पर 12 मिनट के ठहराव के बाद रात 9:26 बजे ट्रेन सेंट्रल से रांची के लिए रवाना हो गई। वहां रिम्स में उनका इलाज चलेगा।

मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट पर लिया फैसला

लालू प्रसाद यादव को जबरन एम्स से डिस्चॉर्ज करने और उनकी जान को खतरा बताए जाने के आरोपों पर एम्स प्रबंधन ने सोमवार देर शाम जवाब दिया। एम्स प्रबंधन के अनुसार 29 मार्च को लालू प्रसाद यादव को रिम्स रांची से दिल्ली एम्स भेजा गया था। उस वक्त उन्हें उच्च रक्तचाप के साथ क्रोनिक किडनी बीमारी थी। साथ ही हाइपरटेंशन और मधुमेह की शिकायत भी थी। एम्स ने सर्जरी, मेडिसिन, कॉर्डियोलॉजी, एंड्रोकॉन्लोजी और नेफ्रोलॉजी विभाग के वरिष्ठ डॉक्टरों का एक बोर्ड बना इलाज शुरू किया था। 

28 अप्रैल को बोर्ड ने जब लालू प्रसाद यादव की जांच की तो उन्होंने ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर नियंत्रण में बताया। साथ ही सलाह दी कि हाइपरटेंशन, मधुमेह के लिए वे रिम्स जाकर प्रतिदिन चिकित्सीय जांच और उपचार करवा सकते हैं। इस रिपोर्ट के आधार पर ही एम्स प्रबंधन ने उन्हें शनिवार को रेफर करने का निर्णय लिया था। लेकिन लालू प्रसाद यादव ने एम्स निदेशक से अपील करते हुए सोमवार को रांची जाने की इजाजत मांगी थी। इसीलिए सोमवार को एम्स प्रबंधन ने उन्हें डिस्चॉर्ज किया था। 

 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तराखंड में कांग्रेस ने बारिश से तबाही को लेकर राज्यपाल से की मुलाकात

देहरादून: प्रदेश में भारी बरसात के दौरान अतिक्रमण हटाओ