इस होटल की 5वी मंजिल पर भूल कर भी न रखे कदम, वरना मौत होना तय है

- in ज़रा-हटके

उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग के यंगाकडो होटल जाने का नतीजा था कि अमरीकी छात्र ऑटो वार्मबियर को वहां हिरासत में लिया गया। हालांकि बाद में उत्तर कोरिया ने वार्मबियर को अमरीका जाने दिया। मगर हिरासत के दौरान हुए टॉर्चर की वजह से उसकी मौत हो गई। वैसे, ऑटो वार्मबियर वो पहला अमरीकी नागरिक नहीं था, जो उत्तर कोरिया के सबसे बड़े होटल यंगाकडो में ठहरा था। ऐसे ही एक अमरीकी नागरिक थे कैल्विन सन, जो उत्तर कोरिया घूमने गए थे और यंगाकडो होटल में ठहरे थे।इस होटल की 5वी मंजिल पर भूल कर भी न रखे कदम, वरना मौत होना तय है

कैल्विन आज भी उन दिनों को याद कर के सिहर उठते हैं। उस दिन का किस्सा बताते हैं जिस दिन वो उत्तर कोरिया से वापसी के लिए रवाना हो रहे थे। कैल्विन उससे पहले की पूरी रात जागे थे और साथी सैलानियों के साथ मौज-मस्ती की थी। इसके बाद उन्होंने यंगाकडो होटल से चेक आउट किया और प्योंगयांग इंटरनेशनल एयरपोर्ट जाने के लिए बस में बैठ गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

दोस्तों के सामने दुल्हन ने रख दी ऐसी शर्त, रह गए दंग!

अपने दोस्त की शादी के लिए हर कोई